नई दिल्ली. सांबा जिले के रामगढ़ सेक्टर में शहीद हुए बीएसएफ जवान नरेंद्र सिंह का शव पोस्टमार्टम केबाद सोनीपत भेज दिया गया है. कांग्रेस ने इस पर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को घेरा है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि हमारी सरकार कर क्या रही है? पहले हेमराज और अब नरेंद्र सिंह. पाकिस्तान ने विभत्सतापूर्वक उनकी हत्या कर दी. मोदी जी आपकी आत्मा आपको बुलाती नहीं है?

रणदीप सुरजेवाला ने कहा, कहां गया 56 इंच का सीना और कहां गई लाल आंखें? कहां गया 1 के बदले 10 सर लाने का वादा? सरकार भ्रष्टाचारियों के लिए डरी हुई है. जवानों के लिए नहीं. मोदीजी सेना का प्रयोग राजनीति फायदे के लिए कर रहे हैं, लेकिन उनकी सुरक्षा के लिए नहीं सोचते हैं.

कई गोली मारने के बाद गला रेता गया
बता दें कि पाकिस्तानी सैनिकों ने जम्मू क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय सरहद पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवान नरेंद्र सिंह को कई गोली मारने के बाद उसका गला रेत दिया था. भारतीय बलों के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय सीमा पर यह अपनी तरह का पहला बर्बर कृत्य है. अधिकारियों ने बताया कि घटना के बाद सुरक्षा बलों ने 192 किलोमीटर लंबी अंतरराष्ट्रीय सीमा तथा 740 किलोमीटर लंबी नियंत्रण रेखा पर ‘‘हाई अलर्ट’’ जारी कर दिया, जिसकी रखवाली सेना करती है. यह बर्बर घटना मंगलवार को रामगढ़ जिले में हुई जो नियंत्रण रेखा पर भारतीय सुरक्षा बलों के खिलाफ इस तरह के हमलों की याद ताजा करता है.

पीछे पाकिस्तान सैनिक
सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के लापता जवान की पहचान नरेंद्र सिंह के तौर पर हुई है. बीएसएफ ने पहले उनका नाम नरेंद्र कुमार बताया था. अधिकारियों ने बताया, ‘जवान के शरीर में तीन गोलियां लगने के निशान हैं और उनका गला रेता गया है. अंतरराष्ट्रीय सीमा पर भारतीय सुरक्षा बल के साथ हुई यह अप्रत्याशित घटना है और पाकिस्तानी सैनिक इसके पीछे हैं. बीएसएफ और अन्य सुरक्षा बल सही समय पर जवाबी कार्रवाई करेंगे. यह घटना जम्मू में सोमवार को गृह मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा बीएफएस के ‘स्मार्ट बाड़’ परियोजना का उद्घाटन करने के एक दिन बाद हुई है. इस परियोजना का लक्ष्य भारत-पाकिस्तान सीमा के संवेदनशील क्षेत्रों को स्मार्ट तकनीक की सहायता से सुरक्षित करना है.