श्रीनगर: ‘जम्मू एवं कश्मीर’ के केंद्र शासित प्रदेशों- जम्मू एवं कश्मीर और लद्दाख के गुरुवार को हुए ऐतिहासिक पुनर्गठन के बाद अब तत्कालीन प्रभाव से रेडियो स्टेशनों के नाम भी बदल दिए गए. जम्मू स्थित रेडियो स्टेशन का नाम बदलकर ऑल इंडिया रेडियो जम्मू कर दिया गया. जबकि श्रीनगर और लेह स्थित स्टेशनों का नाम भी क्रमश: बदलकर ऑल इंडिया रेडियो कश्मीर और ऑल इंडिया रेडियो लेह रख दिया गया.

 

बता दें कि 9 अगस्त को राष्ट्रपति की स्वीकृति मिलने के साथ ही जम्मू एवं कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम 2019 के लागू होने का अर्थ है कि अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू एवं कश्मीर को प्राप्त विशेष दर्जा, 72 वर्षो के बाद समाप्त किया जाता है, जो कल रात (बुधवार रात) 12 बजे से अस्तित्व में आ गया है. अधिनियम के अनुसार, संबंधित संघ शासित प्रदेशों में प्रशासक के रूप में लेफ्टिनेंट गवर्नर (उप-राज्यपाल) कार्य करेंगे, जिन्हें भारत के राष्ट्रपति द्वारा नियुक्त किया जाएगा. इनके कार्यकाल का निर्धारण भी राष्ट्रपति द्वारा किया जाएगा.

जी सी मुर्मू बने जम्मू-कश्मीर के पहले उपराज्यपाल, राजभवन में ली शपथ

जम्मू कश्मीर से राष्ट्रपति शासन हटा, दो नए केन्द्र शासित क्षेत्रों का गठन
जम्मू कश्मीर और लद्दाख को दो केन्द्र शासित क्षेत्र बनाए जाने के बाद अविभाजित जम्मू कश्मीर में लगा राष्ट्रपति शासन बृहस्पतिवार को हटा दिया गया. जम्मू कश्मीर और लद्दाख दो नए केन्द्र शासित क्षेत्र के रूप में आज यानी बृहस्पतिवार से अस्तित्व में आए हैं. आधिकारिक अधिसूचना में कहा गया है कि संविधान के अनुच्छेद 356 की धारा 2,के तहत प्राप्त अधिकारों का इस्तेमाल करते हुए मैं, रामनाथ कोविंद, भारत का राष्ट्रपति, मेरे द्वारा 19 दिसंबर, 2018 को जम्मू-कश्मीर राज्य के संबंध में जारी की गई अपनी उद्घोषणा को रद्द करता हूं.

जून 2017 में लगा था जम्मू कश्मीर में राज्यपाल शासन
इससे पहले राज्य की तत्कालीन मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के इस्तीफे के बाद जून 2017 में जम्मू कश्मीर में राज्यपाल शासन लगा दिया गया था और राज्यपाल शासन के छह महीने बाद राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया था. दो नए केन्द्र शासित क्षेत्र के गठन के बाद बृहस्पतिवार को राष्ट्रपति शासन हटाने की घोषणा की गई. संविधान का अनुच्छेद 356, जिसके तहत राज्यों में राष्ट्रपति शासन लगाया जाता है, केंद्र शासित क्षेत्रों पर लागू नहीं होता.