नई दिल्ली: रफाल का इंतजार अब खत्म होने वाला है, जी हा, खबरों की मानें तो 5 रफाल लड़ाकू विमान जल्द ही फ्रांस के एयरबेस से उड़ान भरने वाले हैं. यह बुधवार तक अंबाला एयरबेस पहुंचेंगे. बता दें कि इन सभी लड़ाकू विमानों को भारतीय वायुसेना के पायलट ही उड़ाकर ला रहे हैं. बता दें कि अगले हफ्ते तक रफाल भारतीय सेना के रक्षा बेड़े मे शामिल हो जाएगा. साल 2016 में राफेल लड़ाकू विमानों की 59,000 करोड़ रूपये में डील की गई थी.Also Read - IMF ने 2022 में भारत की वृद्धि दर का अनुमान 9 प्रतिशत किया, चीन 4.8%, यूएस 4% फीसदी पर रहेंगे

गौरतलब है कि इस समय भारतीय चीन सीमा पर विवाद चल रहा है. इस कारण इन पांचों विमानों की तैनाती इसी के के मद्देनजर की जाएगी. फ्रांस के एयरबेस से उड़ान भरने के बाद पांचों राफेल विमान यूएई के अल डाफरा एयरबेस पर रीफ्यूलिंग और टेक्निकल चेकअप के लिए उतरेंगे इसके बाद यहां से उड़ान भरने के बाद ये विमान सीधे अंबाला एयरफोर्स बेस पर लैंड करेंगे. Also Read - आजादी के 75 साल में पहली बार पाकिस्‍तान से तीर्थयात्र‍ी PIA की स्‍पेशल फ्लाइट से पहुंचेंगे भारत

बता दें कि राफेल निर्माता कंपनी दसा ही भारतीय पायलटों को प्लेन उड़ाने की ट्रेनिंग देगी. बता दें कि पहली खेप में 10 राफेल विमान भारत को मिलने थे लेकिन निर्माण कार्य पूरा न हो पाने के कारण भारतीय सेना को फिलहाल के लिए 5 राफेल विमानों की डिलीवरी दी जाएगी. बता दें कि रक्षामंभत्री राजनाथ सिंह नें 2 जून के दिन फ्रांस के रक्षा मंत्री से बात की थी. इस दौरान उन्होंने जल्द ही राफेल की डिलीवरी का भरोसा दिलाया था. Also Read - 'फोन उठाओ और एक दूसरे से बात करो': कपिल देव ने विराट कोहली-सौरव गांगुली को देश के बारे में सोचने की सलाह दी