नई दिल्ली: वायुसेना प्रमुख बी एस धनोआ ने बुधवार को राफेल को पासा पलटने वाला बताया और कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने फ्रांस के साथ हुए इस सैन्य विमान सौदे के खिलाफ दायर की गई याचिकाओं पर ‘बहुत अच्छा फैसला’ दिया है. उन्होंने रक्षा खरीद के राजनीतिकरण के खिलाफ सावधान किया और कहा कि पहले इसी की वजह से सेना को बोफोर्स तोप हासिल करने में देरी हुई थी. उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘मैं फैसले पर कुछ नहीं कहने जा रहा हूं लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने बहुत अच्छा फैसला दिया है. उसने यह भी कहा कि इस विमान की सख्त जरूरत है. Also Read - Diwali Bonus: लॉकडाउन के दौरान समय पर EMI चुकाने वालों को कैशबैक देगी सरकार, जानें क्या है पूरा मामला

Also Read - Bank loan Interest Relief: कर्जदारों को केंद्र सरकार का बड़ा दिवाली तोहफा, बैंक से इतने रुपये तक का कर्ज लेने वालों को ब्याज में दी राहत

बीजेपी के कुछ लोग कम बोलें, ऐसे लोगों के मुंह में कपड़ा रखने की जरूरत: गडकरी Also Read - Loan Moratorium Update: लोन मोरेटोरियम के दौरान कर्ज पर ब्याज छूट को लेकर वित्त मंत्रालय ने जारी किया यह दिशानिर्देश

धनोआ ने कहा कि जहां तक प्रौद्योगिकी की बात है तो राफेल विमान के खिलाफ कोई तर्क नहीं है. रूस के साथ संयुक्त सैन्याभ्यास के मौके पर उनका बयानऐसे समय में आया है जब महज कुछ दिन पहले सुप्रीम कोर्ट ने राफेल सौदे की जांच की मांग संबंधी याचिकाएं खारिज कर दीं. कांग्रेस ने 36 राफेल विमानों के इस सौदे में अनियमितता का आरोप लगाया है और दावा किया है कि यह सरकार उस दाम से बहुत ऊंचे मूल्य पर ये विमान खरीद रही है जिस पर पिछली सरकार बातचीत कर रही थी. धनोआ ने कहा कि वायुसेना ने यह पक्का किया है कि विमान में श्रेष्ठ (युद्धक) प्रणालियां हों.

कांग्रेस की जीत पर केंद्रीय मंत्री ने की राहुल गांधी की तारीफ, कहा- अब ‘पप्पू’ नहीं, ‘पप्पा’ बन गए

उन्होंने कहा कि योजनाबद्ध खरीद में पहले ही काफी लंबा वक्त लग चुका है और इस दौरान भारत के पड़ोसियों ने अपना रक्षा आयुध भंडार उन्नत कर लिया. हमारे रणनीतिक परिदृश्य के मद्देनजर हमें इसकी जरूरत है. वह सरकार के इस कथन का समर्थन करते हुए जान पड़े कि विभिन्न हथियारों से लैस विमान के मूल्य विवरण का खुलासा होने से प्रतिद्वंद्वी उसकी क्षमता जान लेंगे. वायुसेना प्रमुख ने कहा कि करदाताओं को यह जानने का हक है कि उनका पैसा कहां जाता है लेकिन नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक यह सुनिश्चित करने के लिए हैं कि इसका सही ढंग से इस्तेमाल हो.

मोदी सरकार के मंत्री बोले, सबके खाते में धीरे-धीरे आएंगे 15 लाख रुपए, आरबीआई अड़ंगा लगा रही है

दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर पलटवार करते हुए बुधवार को कहा कि उसने लोकतंत्र की हर संस्था को अपमानित किया है, चाहे वह सेना हो या कैग. मोदी ने राफेल सौदे के मुद्दे पर कांग्रेस की ओर से किए जा रहे हमलों पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, ‘अगर आपको लगता है कि उन्हें (कांग्रेस) केवल निर्वाचन आयोग और ईवीएम से दिक्कत थी तो ऐसा नहीं है. उन्होंने सेना और कैग सहित हमारे लोकतंत्र के लिए महत्वपूर्ण हर संस्था को अपमानित किया है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि मुख्य विपक्षी पार्टी ने शीर्ष कोर्ट के फैसले पर भी सवाल सिर्फ इसलिए उठा दिए क्योंकि उसे फैसला पसंद नहीं आया.

(इनपुट-भाषा)