नई दिल्लीः रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आठ अक्टूबर को भारतीय वायुसेना के स्थापना दिवस पर पेरिस में फ्रांस से करार हुए 36 राफेल लडाकू विमानों में से पहले विमान को औपचारिक रूप से ग्रहण करेंगे. सरकार के सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी दी. सूत्रों ने बताया कि राफेल विमान लेने सिंह के साथ रक्षा सचिव अजय कुमार और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी सात अक्टूबर को तीन दिन के पेरिस दौरे पर जाएंगे. Also Read - लखनऊ में बनेंगे 600 बिस्तरों वाले दो कोविड अस्पताल, राजनाथ ने DRDO को को दिए निर्देश

राफेल विमान को भारत को सौंपने के लिए आयोजित कार्यक्रम में फ्रांस के वरिष्ठ सैन्य अधिकारी और दसाल्ट एविएशन के अधिकारी भी शामिल होंगे. इस यात्रा के दौरान सिंह का फ्रांस के रक्षामंत्री से मिलकर दोनों देशों के बीच रक्षा और सुरक्षा क्षेत्र में सहयोग और मबजूत करने पर विस्तृत चर्चा करने का कार्यक्रम है. Also Read - Indian Air Force Recruitment 2021: भारतीय वायुसेना में इन 1524 पदों पर निकली वैकेंसी, 10वीं, 12वीं पास जल्द करें आवेदन   

सूत्रों ने बताया कि भारतीय वायुसेना की उच्चस्तरीय टीम पहले ही पेरिस में मौजूद है और राफेल विमान के हस्तांतरण कार्यक्रम के लिए फ्रांसीसी अधिकारियों के साथ समन्वय कर रही है. उल्लेखनीय है कि भारत ने फ्रांस के साथ 2016 में 36 राफेल लड़ाकू विमानों के लिए अंतर सरकारी समझौता किया था. इन विमानों की लागत 58,000 करोड़ रुपये के करीब है. भारतीय वायुसेना पहले ही राफेल विमानों को शामिल करने के लिए आधारभूत ढांच और पायलटों का प्रशिक्षण पूरा कर चुकी है. सूत्रों के मुताबिक इन विमानों का एक स्क्वाड्रन अंबाला में और दूसरे को पश्चिम बंगाल के हासिमारा में तैनात किया जाएगा. Also Read - CASB Airmen Admit Card 2021: CASB जल्द जारी करेगा एयरमैन का Admit Card, इस Direct Link से कर सकेंगे डाउनलोड, जानें परीक्षा पैटर्न