बरेली: अटपटे बयानों को लेकर हमेशा चर्चा में रहने वाली साध्वी प्राची ने शुक्रवार को भड़कीला राजनीतिक प्रवचन देकर सुर्खियां बटोरीं. उन्होंने जहां कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को भोंदू बताया, तो वहीं मौलानाओं से पूछा कि पीएम और सीएम पर टोपी पहनने का दबाव डालने वाले मौलाना क्या तिलक लगाएंगे और मंदिर में आरती करेंगे? आरएसएस का सपना पूरा हो पाए या न हो पाए, मगर साध्वी ने हिंदुस्तान को ‘हिंदू राष्ट्र’ बताते हुए कहा कि संसद में कानून बनाकर राम मंदिर का निर्माण हो. Also Read - साध्वी प्राची बोलीं- कोरोना वायरस से भी खतरनाक हैं अरविंद केजरीवाल, इसलिए...

साध्वी प्राची ने कहा, “राहुल गांधी भोंदू हैं, ऐसे भोंदू कभी प्रधानमंत्री नहीं बन सकते. मैं सोनिया गांधी को सलाह देती हूं कि राहुल अब युवा नहीं रहे, इसलिए उन्हें जल्दी से जल्दी अपनी गृहस्थी बसा लेने को कहें. राहुल गांधी जिंदगी में कभी प्रधानमंत्री नहीं बन सकते.” Also Read - फायरब्रांड हिंदू नेता साध्वी प्राची ने जान को खतरा बताया, सरकार से मांगी सुरक्षा

उन्होंने कहा, “देश आजाद हुआ था तो देश के दो टुकड़े हुए थे, एक हिंदुस्तान और दूसरा पाकिस्तान. हिंदुस्तान हिंदुओं के लिए था. हिंदुस्तान हिंदू राष्ट्र है, हिंदू राष्ट्र था, हिंदू राष्ट्र रहेगा.” साध्वी ने कहा, “हिंदुस्तान के अंदर किसी ने अपनी मां का दूध नहीं पिया जो राम मंदिर को रोक पाए. राम मंदिर बनेगा और अयोध्या में बनेगा. संसार की कोई ताकत उसे रोक नहीं पाएगी. प्रवीण तोगड़िया असली राम भगत हैं.” Also Read - साध्वी प्राची की विवादित अपील, कहा- मुसलमानों की बनाई कांवड़ का करें बहिष्कार

उन्होंने कहा, “पीएम से अनुरोध करूंगी कि जैसे सोमनाथ मंदिर के लिए कानून बनाया था, वैसे ही राम मंदिर के लिए भी संसद में कानून बनाकर राम मंदिर बनाया जाए.” मगहर के कबीरधाम में मुख्यमंत्री योगी से टोपी पहनने का आग्रह किए जाने का जिक्र करते हुए साध्वी ने मौलानाओं पर निशाना साधा और कहा, “इनका खुदा, इनका पैगम्बर भगवा टोपी पहनते थे, जो ये देश के पीएम और सीएम पर टोपी पहनने का दबाब डालते हैं? मैं मौलानाओं से पूछना चाहती हूं कि ये तिलक लगाने को तैयार हैं? क्या आजम खां, ओवैसी, गुलाम नबी आजाद तिलक लगाने और मंदिर में आरती करने के लिए तैयार हैं?”