नई दिल्ली: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आज लोकसभा में नरेन्द्र मोदी सरकार पर देश के 50 बड़े बैंक ऋण चूककर्ताओं को बचाने का आरोप लगाया तो वहीं वित्त मंत्री ने कहा कि कांग्रेस नेता मुद्दे पर राजनीति कर रहे हैं और कुछ लोग अपने पापों को दूसरों के सिर मढ़ने की कोशिश कर रहे हैं जो कि हम होने नहीं देंगे. राहुल गांधी को प्रश्नकाल में अनुपूरक प्रश्न पूछने की अनुमति नहीं दिए जाने पर कांग्रेस सदस्यों ने कड़ी आपत्ति जताई और इसके विरोध में आसन के समक्ष आकर नारेबाजी भी की. Also Read - कांग्रेस ने सांसदों के वेतन में कटौती का स्वागत किया, सांसद निधि बहाल करने की मांग

सदन में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने इस पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराते हुए कहा कि यह सरासर नाइंसाफ है कि राहुल गांधी को अनुपूरक प्रश्न नहीं करने दिया गया जबकि प्रश्नकाल समाप्त होने में अभी थोड़ा समय बाकी था. इसके बाद कांग्रेस सदस्य इसके विरोध में सदन से वाकआउट कर गए. इससे पूर्व, वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने इस सवाल का जवाब देते हुए कहा कि देश के सभी बैंक सुरक्षित हैं और यस बैंक के जमाकर्ताओं का पैसा भी सुरक्षित है. अनुराग ठाकुर ने राहुल गांधी पर आरोप लगाया कि इनकी सरकार ने पैसा देकर लोगों को देश से बाहर भगाया. लेकिन मोदी जी वही पैसा वापस ला रहे हैं. Also Read - दीया जलाने के दौरान बीजेपी महिला जिला अध्यक्ष ने की थी फायरिंग, FIR दर्ज, अब मांग रहीं माफी

मोदी सरकार ही भगौड़ा आर्थिक अपराधी संबंधी विधेयक लाई है. ऐसे आर्थिक अपराधियों की संपत्तियों को जब्त किया गया है. इसी क्रम में वित्त राज्य मंत्री ने कहा कि वह इस चर्चा में ‘पेंटिंग खरीदने बेचने’ की बात नहीं करना चाहते क्योंकि उनकी मंशा इस मुद्दे पर राजनीति करने की नहीं है. गौरतलब है कि यस बैंक के प्रमोटर राणा कपूर ने कुछ साल पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा से एम एफ हुसैन की पेंटिंग खरीदी थी जिसे लेकर पिछले दिनों राजनीति गर्मायी रही थी. ठाकुर ने कहा कि राहुल गांधी पूरी भारतीय बैंकिंग व्यवस्था पर सवाल खड़ा कर रहे हैं जो इनकी नामसमझी दिखाता है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए काम कर रहे हैं . राहुल गांधी ने अपने मूल प्रश्न को उठाते हुए कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था बुरे दौर से गुजर रही है, व्यावहारिक रूप से देखा जाए तो बैंकिंग सिस्टम काम नहीं कर रहा है. Also Read - Coronavirus पर रघुराम राजन की सलाह- हर चीज PMO से संभव नहीं, काम के बोझ तले दबे हैं अधिकारी

उन्होंने कहा कि इसका मुख्य कारण बड़ी संख्या में लोग बैंकों का पैसा चुराकर भाग रहे हैं . उन्होंने सरकार से देश के शीर्ष 50 चूककर्ताओं के नाम बताने की मांग की. साथ ही राहुल गांधी ने कहा कि सरकार ने उनके सवाल का घुमाफिरा कर जवाब दिया है . उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा था कि जिन लोगों ने बैंकों का पैसा हड़पा है उन्हें वह पकड़ कर लाएंगे लेकिन उनकी सरकार 50 बड़े चूककर्ताओं के नाम तक नहीं बता रही है. उनके सवाल का जवाब देते हुए वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि राहुल गांधी ने भूमिका इतनी ज्यादा बांधी है क्योंकि इनको पता है कि कमियां कहां हैं . उन्होंने कांग्रेस की ओर इशारा करते हुए कहा कि कुछ लोग अपने पापों को दूसरों के सिर मढ़ने की कोशिश कर रहे हैं जो कि हम होने नहीं देंगे .

उन्होंने कहा कि साल 2010 . 14 के बीच सकल अग्रिम दर 0.64 फीसदी था जो 2018 . 19 में कम होकर 0.18 फीसदी, 2019 . 20 में 0.08 फीसदी रह गया है. और ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि मोदी सरकार ने इन्हें कम करने के लिए कदम उठाए, वास्तविक गैर निष्पादित आस्तियों का पता लगाया गया, बैंकीय ढांचे का पुनर्गठन किया गया. ठाकुर ने कहा कि जहां तक देश के शीर्ष 50 चूककर्ताओं की बात है तो इसमें छुपाने की कोई बात ही नहीं है. 25 लाख रूपये से अधिक के चूककर्ताओं के नाम केंद्रीय सूचना आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध हैं . लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान राहुल गांधी को उनके पूरक सवाल पर पूरक सवाल पूछने की अध्यक्ष ओम बिरला द्वारा अनुमति नहीं दिए जाने पर कांग्रेस सदस्य सदन में वाकआउट कर गए.