नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू और तेलुगू देशम पार्टी के नेताओं की मौजूदगी में गुरुवार को कहा कि बीजेपी को हराने के लिए विपक्षी दल मिलकर काम करेंगे. राहुल ने कहा कि पार्टियां यह सुनिश्चित करने की दिशा में काम करेंगी कि लोकतांत्रिक संस्थानों पर हमला बंद हो. नायडू से मुलाकात के बाद राहुल गांधी ने यह बयान दिया. नायडू अगले लोकसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ विपक्षी दलों को एकजूट करने की कोशिश कर रहे हैं. राहुल ने कहा कि पार्टियां राफेल सौदे में भ्रष्टाचार और बेरोजगारी जैसे सर्वाधिक महत्वपूर्ण मुद्दों पर एकसाथ काम करेंगी.

राहुल गांधी से की मुलाकात फिर नायडू बोले- हम देश को बचाने एक-साथ आ रहे हैं

बीजेपी के खिलाफ तीसरा मोर्चा खड़ा करने के लिए नायडू, पवार और फारुक मिले, दिल्‍ली में सियासी पारा चढ़ा

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ”यह स्पष्ट है कि भ्रष्टाचार हो रहा है. संस्थान जो जांच कर सकते हैं, उन्हें निशाना बनाया जा रहा है…जो सब हुआ उसकी उचित जांच हो, पैसा कहां गया और किसने भ्रष्टाचार किया..मैं इन्हीं चीजों पर ज्यादा जोर दे रहा हूं. देश यह जानना चाहता है.” नायडू ने कहा कि उन्होंने सभी राजनीतिक दलों के साथ बातचीत की है.

बता दें कि नायडू ने राहुल गांधी से मुलाकात करने के पहले एनसीपी प्रमुख शरद पवार और नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला से भी मीटिंग की थी.

राहुल ने कहा, ” हम एक साझे मंच पर मिलेंगे और रणनीतियां तय करेंगे.” एक सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा, ”आप उम्मीदवारों में रुचि रखते हैं, हम देश में रुचि रखते हैं.” नायडू और राहुल के बीच यह मुलाकात ऐसे समय में हो रही है, जब दोनों की पार्टियों में तेलंगाना विधानसभा चुनावों में सीट साझा करने पर बातचीत जारी है. तेलंगाना में विधानसभा चुनाव सात दिसंबर को होने वाले हैं.