नई दिल्ली. पुलवामा हमले पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके शोक संवेदना जताई. उन्होंने कहा कि ये हमला सरकार की आत्मा पर हमला है. हम इस घड़ी में सरकार के साथ खड़े हैं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि शहीद जवानों के साथ पूरा देश एक है. उन्होंने कहा कि नेशन सिक्यूरिटी फर्स्ट है. किसी भी तरह की ताकत देश को बांट नहीं सकती है.Also Read - Rahul Gandhi Defamation Case: राहुल गांधी के खिलाफ मानहानि मामले में सुनवाई 13 नवंबर तक टली, जानिए पूरा मामला

Also Read - सिद्धू का नया पैंतरा-पहले इस्तीफा, फिर लिया वापस, अब सोनिया गांधी को लिखा खत, मिलना चाहता हूं

राहुल गांधी ने कहा कि ये दुख की घड़ी, शोक और सम्मान की घड़ी है. हम भारत सरकार और हमारे सुरक्षाबलों के साथ पूरी तरह से खड़े हैं. इस घड़ी में हम इस मुद्दे के अलावा किसी चीज पर डिस्कशन नहीं करेंगे. अभी सिर्फ और सिर्फ देश के साथ खड़े रहने की जरूरत है. Also Read - फिर से कांग्रेस अध्यक्ष बन सकते हैं राहुल गांधी, CWC की बैठक में बोले- नेताओं ने दबाव बनाया तो विचार करूंगा

वहीं, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा, आज शोक का दिन है. देश ने लगभग 40 से ज्यादा जवानों को खोया है. हमारी सबसे बड़ी ड्यूटी है कि हम उन जवानों के परिजनों से संपर्क करें और उन्हें बताएं कि हम सब उनके साथ खड़े हैं. उन्होंने कहा कि हम आतंकवादी ताकतों से कभी भी कंप्रोमाइज नहीं करेंगे और उनका डटकर सामना करेंगे.