नई दिल्ली. साल 2019 की शुरुआत से ही राजनैतिक गलियारों में साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव की चर्चा होने लगी है. जहां साल के पहले दिन पीएम मोदी ने एक इंटरव्यू देकर चुनाव रणनीति जाहिर की तो दूसरी तरफ अगले दिन संसद में राहुल गांधी ने केंद्र सरकार को घेरने की कोशिश की. लेकिन इन सबके चीच चर्चा गांधी-नेहरू परिवार की परंपरागत सीट अमेठी की भी हो रही है. इसके पीछे वजह है कि 4 जनवरी को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी दोनों अमेठी में होंगे. बताया जा रहा है कि दोनों का कार्यक्रम तो अलग-अलग जगह पर है, लेकिन इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि कहीं दोनों का आमना-सामना न हो.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी चार जनवरी से अमेठी के दो दिन के दौरे पर जा रहे हैं. कांग्रेस के अमेठी जिलाध्यक्ष योगेंद्र मिश्रा के मुताबिक, सांसद राहुल गांधी चार जनवरी को लखनऊ के रास्ते अमेठी पहुचेंगे. उसके बाद वह कई गांवों का दौरा करेंगे. गांधी रात्रि विश्राम मुंशीगंज गेस्ट हाउस में करेंगे.

इस कार्यक्रम में भी रहेंगे राहुल
योगेंद्र मिश्रा ने बताया कि पांच जनवरी को गेस्ट हाउस में लोगों से मुलाकात के बाद राहुल गांधी मुसाफिरखाना अधिवक्ता संघ के शपथ ग्रहण समारोह मे भाग लेंगे. फिर क्षेत्र का दौरा करते हुए वह दिल्ली वापस चले जाएगे.

स्मृति ईरानी भी रहेंगी अमेठी में
दूसरी तरफ केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी आगामी चार जनवरी को अमेठी के एक दिन के दौरे पर आएंगी. अमेठी भाजपा के लोकसभा संयोजक राजेश मसाला ने बताया कि केन्द्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति अपने इस दौरे पर अमेठी में आवासीय विद्यालय की आधारशिला रखेंगी. उन्होंने कहा कि 10 बीघा क्षेत्र में बनने वाले इस विद्यालय से क्षेत्र को बहुत फायदा होगा. आगामी लोकसभा चुनाव से पहले स्मृति ने अमेठी में अपनी गतिविधियां तेज कर दी हैं. पिछले 15 दिनों में उनका अमेठी का यह दूसरा दौरा है.