नई दिल्ली: 23 मई को कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी ने सोमवार को दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी से मुलाकात की और उन्हें अपने शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने का न्योता दिया. कुमारस्वामी के साथ पार्टी नेता दानिश अली भी मौजूद थे जबकि कांग्रेस की तरफ से राहुल और सोनिया के अलावा केसी वेणुगोपाल इस दौरान मौजूद रहे. कर्नाटक में फ्लोर टेस्ट से पहले ही येदियुरप्पा द्वारा इस्तीफा देने के बाद अब कांग्रेस और जेडीएस मिलकर सरकार बना रहे हैं.

कांग्रेस जेडीएस गठबंधन
कर्नाटक में कांग्रेस, बीजेपी और जेडीएस ने एक दूसरे के खिलाफ चुनाव लड़ा था लेकिन चुनाव बाद किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला ऐसे में बीजेपी द्वारा बहुमत साबित नहीं कर पाने के बाद अब कांग्रेस और जेडीएस मिलकर सरकार बना रहे हैं. कांग्रेस ने जेडीएस को बिना किसी शर्त के समर्थन देने का ऐलान किया है. मुलाकात के बाद कुमारस्वामी ने कहा, ”मैं गांधी परिवार के प्रति अपना सम्मान जताना चाहता था इसलिए मैं यहां आया हूं. मैंने दोनों नेताओं को शपथग्रहण समारोह में शामिल होने का न्योता दिया है. दोनों नेता शपथग्रहण में आने के लिए तैयार भी हो गए हैं.”

राहुल गांधी और सोनिया गांधी को शपथग्रहण का न्योता देने के अलावा कुमारस्वामी ने सरकार में किस पार्टी के कितने मंत्री बनेंगे इस पर भी चर्चा की. मुलाकात के बाद गठबंधन में डिप्टी सीएम के सवाल पर कुमारस्वामी ने कहा, ”राहुल जी ने सरकार बनाने के तरीके का समाधान किया है, उन्होंने अपनी पार्टी के कर्नाटक के महासचिव केसी वेणुगोपाल को ये जिम्मेदारी सौंपी है कि वो देखें कि सरकार में गठबंधन किस आधार पर होगा. वेणुगोपाल और कर्नाटक कांग्रेस के नेता मंगलवार को बैठक करेंगे जिसके बाद सारी चीजें फाइनल हो जाएंगी.”

सत्ता साझा नहीं होगी
कुमारस्वामी रविवार को ही कह चुके हैं कि कर्नाटक में सत्ता साझा करने पर कांग्रेस से कोई समझौता नहीं होगा. हालांकि कुमारस्वामी ने ये जरूर माना था कि कांग्रेस अध्यक्ष से मिलकर डिप्टी सीएम और कांग्रेस और जेडीएस के कितने विधायक गठबंधन सरकार में मंत्री बनेंगे इस पर जरूर चर्चा हो सकती है.

कुमारस्वामी के दिल्ली पहुंचने से पहले ऐसी अटकलें लगाई जा रही थीं कि कुमारस्वामी दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष से मिलकर 30-30 महीने तक सरकार चलाने के फॉर्मूले पर बात करेंगे लेकिन कुमारस्वामी ने ऐसी किसी भी अटकल को साफ नकार दिया था.

मायावती को भी दिया न्योता
कुमारस्वामी ने राहुल गांधी और सोनिया गांधी के अलावा बीएसपी सुप्रीमो मायावती को भी अपने शपथग्रहण में शामिल होने का न्योता दिया है. कर्नाटक चुनाव में इस बार बीएसपी की भी एंट्री हुई है. बीएसपी के एक उम्मीदवार ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज की है.

राहुल-सोनिया से पहले मायावती से मिले कुमारस्वामी, शपथग्रहण में शामिल होने का दिया न्योता

बता दें कि बीएसपी का एकमात्र विधायक भी कांग्रेस और जेडीएस के गठबंधन में बनने वाली सरकार में शामिल होगा. कर्नाटक में जिस तरह से जनादेश आया है ऐसे में एक विधायक की भी बहुत अहमियत है, यही कारण है कि कुमारस्वामी खुद मायावती से मिलकर उन्हें न्योता देने आए हैं.

केजरीवाल को भी बुलावा
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी शपथग्रहण में शामिल होने के लिए बुलाया गया है. दिल्ली में शीला दीक्षित के नेतृत्व वाली कांग्रेस पार्टी की सरकार के विरोध से राजनीति के मैदान में उतरने वाले आम आदमी पार्टी के नेता व सीएम अरविंद केजरीवाल भी कांग्रेस-जेडीएस की कर्नाटक में बनने वाली गठबंधन सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे.

केजरीवाल जेडीएस नेता और कर्नाटक के मुख्यमंत्री के लिए नामित एच.डी. कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में कांग्रेस और अन्य नेताओं के साथ मंच साझा करते नजर आएंगे.