Corona vaccine in India latest updates: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कोविड-19 महामारी से निपटने और कोरोना के टीके से जुड़े चार सवाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पूछे हैं. राहुल गांधी ने मोदी सरकार से पूछा है कि मोदी सरकार भारत के लिए कौन सी कोरोना वैक्सीन और क्यों चुनेगी. साथ ही उन्होंने ये भी पूछा कि कोरोना टीका लगाने को लेकर किस तरह की प्रक्रिया अपनाई जाएगी. Also Read - Jan Dhan Bank Account Good News: सरकार ने दी बड़ी जानकारी, अब 41 करोड़ लोगों को मिलेगा पीएम जन धन खाते का लाभ

राहुल गांधी कोरोना संकट को लेकर लगातार मोदी सरकार पर हमलावर हो रहे हैं. सोमवार को उन्होंने ट्वीट कर पीएम मोदी से चार सवाल पूछे. राहुल गांधी ने लिखा, Also Read - कोरोना वैक्सीन लगने के बाद हेल्थ वर्कर की मौत, विशेषज्ञों ने कहा...

पीएम को राष्ट्र को बताना होगा:
1. कोरोना की सभी वैक्सीन में से, जो भारत सरकार किस का चयन करेगी और क्यों?
2. पहले टीका किसे मिलेगा और वितरण रणनीति क्या होगी?
3. क्या मुफ्त टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए PMCares फंड का उपयोग किया जाएगा?
4. सभी भारतीयों को कब तक टीका लगाया जाएगा? Also Read - Pradhan Mantri Awas Yojana: पीएम मोदी ने गरीबों को भेजे 2700 करोड़ रुपए, खातों में आए या नहीं, ऐसे करें चेक

रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत में फिलहाल पांच वैक्सीन तैयार होने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं. इनमें से चार परीक्षण के दूसरे या तीसरे चरण में हैं जबकि एक पहले या दूसरे चरण में है. हालांकि अभी तक ये तय नहीं हो पाया है कि भारत कौन से टीके पर भरोसा करेगा. इसी को लेकर राहुल गांधी ने सवाल पूछे हैं.

इससे पहले और लॉकडाउन को लेकर केन्द्र सरकार पर रविवार को निशाना साधा और आरोप लगाया कि इसने लाखों लोगों को गरीबी में धकेल दिया, उनके स्वास्थ्य को खतरे में डाल दिया और छात्रों के भविष्य से समझौता किया गया. उन्होंने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण पर संसदीय समिति के निष्कर्षों पर एक समाचार रिपोर्ट को भी टैग किया.

गांधी ने अपने ट्वीट में आरोप लगाया, ‘‘मोदी सरकार के अनियोजित लॉकडाउन ने लाखों लोगों को गरीबी में धकेल दिया, नागरिकों के स्वास्थ्य को खतरे में डाल दिया और छात्रों के भविष्य के साथ समझौता किया गया.’’ उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘यह कड़वी सच्चाई है कि जिसे भारत सरकार अपने झूठ के जरिए छिपाने की कोशिश करती है.’’ उन्होंने उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए एक अन्य ट्वीट में एक समाचार रिपोर्ट के हवाले से कहा कि हाथरस बलात्कार पीड़िता का परिवार राज्य में सुरक्षित नहीं है.

गांधी ने ट्वीट में आरोप लगाया, ‘‘उत्तर प्रदेश में सरकार के हाथों पीड़ितों का लगातार शोषण असहनीय है. हाथरस बलात्कार-हत्या के मामले में पूरा देश सरकार से जवाब मांग रहा है और पीड़ित परिवार के साथ है. गुंडाराज में वर्दी की गुंडागर्दी का एक और उदाहरण.’’