कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने यहां अगले साल की शुरुआत में होनेवाले निगम चुनाव को लेकर पार्टी नेताओं को एकजुटता बनाए रखने और कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने के लिए कहा। राहुल यहां दो सालों बाद दो दिन के दौरे पर आए हैं। राहुल ने उपनगर मलाड में पार्टी कार्यकर्ताओं की रैली को संबोधित किया। यह पहली बार है कि कांग्रेस का कोई शीर्ष स्तर का नेता मुंबई के अंदरूनी इलाकों में गया हो।

यह भी पढ़े: लेफ्टिनेंट जनरल जैकब पर देश को गर्व: सोनिया गांधी

हाल ही में यूरोप से लौटे राहुल जींस और सफेद शर्ट में काफी प्रसन्न नजर आ रहे थे। उन्होंने यहां एक स्कूल के मैदान में कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। उनके साथ पार्टी की मुंबई इकाई के प्रमुख संजय निरूपम और प्रदेश के दूसरे प्रमुख नेता मौजूद थे।

राहुल ने मकर संक्रांति के अवसर पर कार्यकर्ताओं को मराठी में संबोधित करते हुए कहा, “तिलकुट खाएं और मीठा बोलें। अगर पार्टी मुंबईवासियों के जीवन में परिवर्तन लाना चाहती है तो उसे वृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) का चुनाव जीतना होगा, जो एक साल बाद होने वाला है। इसलिए हमें कांग्रेस की नींव मजबूत करनी होगी।”

उन्होंने कहा, “पहले हमें बीएमसी चुनाव जीतना होगा, हमारा अपना मेयर होगा। उसके बाद हमें विधानसभा और लोकसभा चुनाव पर ध्यान केंद्रित करना होगा।”

पवई में रहने वाले कांग्रेस समर्थक प्रदीप मेनन जो इस रैली में भाग लेने आए थे, ने बताया, “राहुल के भाषण का यहां कार्यकर्ताओं और नेताओं के साथ ही आम मुंबईकर पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ा है।”

इस रैली में बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता शामिल हुए।