नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा के अधिकार वापस लिए जाने के खिलाफ किये गए विरोध प्रदर्शन में शामिल होने वाले लोगों से शुक्रवार को कहा कि ‘‘जब तक प्रधानमंत्री का भ्रष्टाचार नहीं रुक जाता तब तक हम एक साथ मिलकर लड़ेंगे.’’ कांग्रेस ने शुक्रवार को सीबीआई कार्यालयों के बाहर राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन किया था.

CBI रिश्वत कांड: डायरेक्टर आलोक वर्मा की याचिका पर आज सुनवाई करेगा SC

कांग्रेस ने आरोप लगाया कि सरकार ‘सीबीआई को पिंजरे’’ में कैद करने का प्रयास कर रही है. वर्मा के अधिकार वापस लेकर उन्हें छुट्टी पर भेजे जाने के खिलाफ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस मुद्दे पर माफी की मांग को लेकर राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी कार्यकर्ताओं ने यहां विरोध मार्च निकाला. कांग्रेस का यह विरोध मार्च लोधी रोड स्थित दयाल सिंह कॉलेज के बाहर से शुरू होकर करीब एक किलोमीटर दूर सीबीआई मुख्यालय तक गया.

सीबीआई विवाद: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- दो हफ्ते में जांच करे सीवीसी, अंतरिम निदेशक नीतिगत फैसले नहीं लेंगे

कांग्रेस ने वर्मा के खिलाफ की गई इस कार्रवाई को “अवैध एवं असंवैधानिक” करार दिया है. बाद में शाम को राहुल गांधी ने ट्वीट किया,‘‘भ्रष्टाचार को नहीं कहने, राफेल की जांच करने से सीबीआई को रोकने पर नहीं कहने, अन्याय को नहीं कहने के लिए आज सड़कों पर हजारों भारतीय उतरे. हर रोज हम और हजारों को इसमें शामिल करेंगे. हम तब तक एक साथ मिलकर लड़ेंगे जब तक प्रधानमंत्री का भ्रष्टाचार नहीं रुक जाता.’’

इससे पहले राहुल गांधी ने विरोध मार्च और लोधी रोधी पुलिस थाने में बैठे हुए उनकी तस्वीरों के साथ ट्वीट किया था,‘‘चाहे सरकार जितना भी प्रयास कर ले, लेकिन वह सच्चाई को दबा नहीं सकती है.’’

(इनपुट भाषा)