नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल विमान सौदे में कथित अनियमितता को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर फिर निशाना साधा और आरोप लगाया कि एक उद्योगपति को 130,000 करोड़ रुपये का फायदा पहुंचाया गया है. Also Read - प्रधानमंत्री से बोले 'आयरन मैन' मिलिंद सोमन - मैं फिट रहने के लिए जिम नहीं जाता

गांधी ने प्रधानमंत्री की ओर इशारा करते हुए शुक्रवार को ट्वीट कर कहा, ‘‘प्रिय ट्रोल्स, मैं अपने पहले के ट्वीट के लिए माफी मांगता हूं जिसमें मैंने कहा था कि श्रीमान 56 के मित्र के संयुक्त उपक्रम को चार अरब डॉलर का ऑफसेट कांट्रैक्ट मिला है;’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं 16 अरब डॉलर के राफेल ‘लाइफसाइकल’ कॉन्ट्रैक्ट को जोड़ना भूल गया. दरअसल, कुल 20 अरब डॉलर (130,000 करोड़ रुपये) का फायदा पहुंचाया गया है. यह 130,000 करोड़ रुपये का घोटाला है.’’ Also Read - Fit India Dialogue: PM मोदी ने विराट कोहली से पूछा, क्या आप को भी YO-YO टेस्ट से गुजरना पड़ता है, जानें टीम इंडिया के कप्तान ने क्या जवाब दिया

दरअसल, राहुल गांधी ने गत बुधवार को एक खबर शेयर करते हुए ट्वीट किया था, ‘‘श्रीमान 56 (मोदी) को जो पसन्द आता है, उसे सूट पहने होना चाहिए, 45 हजार करोड़ रुपये के कर्ज में डूबे होना चाहिए, उसके पास 10 दिन पुरानी कंपनी होनी चाहिए और उसने अपनी जिंदगी में कभी विमान नहीं बनाया हो.’’ उन्होंने कहा था, ‘‘अगर आप इन शर्तों को पूरा करते हैं तो आपको चार अरब डॉलर के कॉन्ट्रैक्ट का ईनाम मिलेगा.’’

कांग्रेस और राहुल गांधी राफेल सौदे में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए मोदी सरकार पर लगातार हमले बोल रहे हैं. कांग्रेस ने इसी मामले में प्रधानमंत्री मोदी और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के खिलाफ लोकसभा में विशेषाधिकार हनन का नोटिस दे रखा है. पार्टी का आरोप है कि राफेल विमानों की कीमत बताने के संदर्भ में मोदी और सीतारमण ने सदन को गुमराह किया.