नई दिल्लीः लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी की करारी हार के बाद इस्तीफा देने पर अड़े राहुल गांधी को मनाने का सिलसिला अब भी जारी है. कांग्रेस शासित पांचों राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने एक बार फिर राहुल को मनाने की कोशिश की है. इसी क्रम में आज पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भुपेश बघेल और पुड्डुचेरी के सीएम वी नारायणसामी उनके आवास पर पहुंचे. गौरतलब है कि राहुल गांधी को मनाने के लिए पार्टी के कई पदाधिकारियों ने अपने पदों से इस्तीफा दे दिया है. इसी क्रम में पार्टी के अनुसूचित जाति विभाग के प्रमुख नितिन राउत ने अपने पद इस्तीफा दे दिया है.

राउत ने अपने त्यागपत्र में कहा, ‘राहुल जी, आपने हमें जवाबदेही का रास्ता दिखाया है. मैं 2019 के चुनाव के नतीजों की पूरी जिम्मेदारी लेता हूं और अपना इस्तीफा पेश करता हूं.’ उन्होंने गांधी के नेतृत्व में विश्वास जताते हुए कहा कि एससी विभाग की टीम ने पूरी मेहनत की, हालांकि नतीजे उम्मीद के मुताबिक नहीं रहे. इसकी समीक्षा की जाएगी. राउत से पहले कांग्रेस के कई सचिवों, प्रदेश इकाई के नेताओं, युवा कांग्रेस, महिला कांग्रेस तथा पार्टी के दूसरे संगठनों के कई पदाधिकारियों ने गांधी के समर्थन में इस्तीफे दिए.

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद 25 मई को हुई पार्टी कार्य समिति की बैठक में राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की थी. हालांकि कार्य समिति के सदस्यों ने उनकी पेशकश को खारिज करते हुए उन्हें आमूलचूल बदलाव के लिए अधिकृत किया था. इसके बाद से गांधी लगातार इस्तीफे की पेशकश पर अड़े हुए हैं. हालांकि पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं ने उनसे आग्रह किया है कि वह कांग्रेस का नेतृत्व करते रहें.