नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर बीजेपी और आरएसएस पर जोरदार हमला बोला है. बुधवार को कोच्चि में मीडिया से बातचीत में राहुल गांधी ने कहा कि देश में दो तरह का विजन है. एक केंद्रित है और दूसरा सभी को जगह देता है. पहला एक ही विचारधारा को मानता है जो नागपुर का है. आज देश नागपुर से चल रहा है. दूसरा सभी विचारों, संस्कृति का सम्मान करता है. हम इसके लिए लड़ाई जारी रखेंगे. हम सभी विपक्षी दल एक साथ रहेंगे. भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में वकील, सामाजिक कार्यकर्ता और वामपंथी विचारकों की गिरफ्तारी से संबंधित सवालों के जवाब में राहुल गांधी ने ये बातें कहीं.

कई वामपंथी विचारकों, सामाजिक और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के खिलाफ पुलिस की छापेमारी को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को भी नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा और कहा कि ‘न्यू इंडिया’ में एकमात्र एनजीओ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएससए) के लिए जगह है.

बाढ़ प्रभावित केरल के दौरे पर पहुंचे गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘भारत में अब सिर्फ एकमात्र एनजीओ के लिए जगह है और वह आरएसएस है. उन्होंने सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा, ‘‘दूसरे सभी एनजीओ को बंद कर दो. सभी कार्यकर्ताओं को जेल भेज दो और शिकायत करने वालों को गोली मार दो. न्यू इंडिया में स्वागत है.’ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस समय केरल के दौरे पर हैं. बुधवार को उनके दौरे का दूसरा दिन था. उन्होंने दो दिनों तक कैंप में रह रहे पीड़ितों मुलाकात की और उनका हालचाल जाना.

जान बचाने के लिए राहुल ने एयर ऐम्बुलेंस को पहले कराया टेक ऑफ, खुद किया 30 मिनट इंतजार

केरल बाढ़ को ‘बहुत बड़ी त्रासदी’ करार देते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि उनकी पार्टी मुआवजा देने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों पर दबाव डालेगी जो उन्हें प्रभावित लोगों को देना चाहिए. बाढ़ से बर्बाद हुए अलपुझा, एर्नाकुलम और त्रिशूर जिलों का दौरा करते हुए उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से राहत एवं पुनर्वास अभियानों में भाग लेने तथा लोगों के क्षतिग्रस्त मकानों को रहने योग्य बनाने में मदद करने की भी अपील की. राहुल ने कहा कि केंद्र के केरल की ज्यादा से ज्यादा मदद करनी चाहिए. यहां कैंपों में रह रहे लोग डरे हुए हैं. उन्हें मदद की जरूरत है. उनके घर तबाह हो गए हैं.