नई दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी शुक्रवार को मानसरोवर यात्रा पर निकलेंगे. बताया जा रहा है कि राहुल गांधी चीन के रास्ते कैलाश मानसरोवर यात्रा जाएंगे. बताया जा रहा है कि वह पहले बीजिंग जाएंगे. वहां से वह लहासा और सागा जाएंगे. वह सागा में एक या दो दिन तक रुकेंगे.

बता दें कि नई दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित जन आक्रोश रैली के दौरान राहुल गांधी ने मानसरोवर यात्रा का जिक्र किया था. उन्होंने एक हादसे का जिक्र करते हुए कहा था, मैं कर्नाटक की यात्रा पर था. प्लेन में सफर कर रहा था. अचानक प्लेन 8 हजार फीट नीचे आ गया. मैं अंदर से हिल गया. लगा कि अब गाड़ी गई. तभी मुझे कैलाश मानसरोवर याद आया. अब मैं आपसे 10-15 दिन की छुट्टी चाहता हूं, ताकि कैलाश मानसरोवर यात्रा पर जा सकूं.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुजरात में एक कार्यक्रम के दौरान खुद को शिवभक्त कहा था. वहीं कांग्रेस प्रवक्त रणदीप सुरजेवाला राहुल गांधी को जनेऊधारी शिवभक्त कह चुके हैं. बताया जा रहा है कि अब राहुल गांधी मानसरोवर यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं और अब वह इसे करने वाले भी हैं.

चुनाव के दौरान गए थे कई मंदिर
गुजरात और कर्नाटक विधानसभा चुनाव के दौरान राहुल गांधी ने एक के बाद एक कई मंदिरों में जाकर दर्शन किया था. हालांकि, इस पर विपक्ष ने उन्हें घेरा था और कहा था कि वह सिर्फ वोट पाने के लिए इस तरह के हथकंडे अपना रहे हैं. कई लोगों ने इसे सॉफ्ट हिंदूत्व की राजनीति तक कहा था.

केदारनाथ यात्रा पर भी जा चुके हैं
हालांकि, यह पहला मौका नहीं है जब राहुल गांधी किसी धार्मिक यात्रा पर जाएंगे. इससे पहले साल 2015 में उत्तराखंड हादसे के बाद वह केदारनाथ यात्रा पर भी गए थे. बताया जा रहा है कि राहुल गांधी की यह यात्रा 31 अगस्त से शुरू होकर 8 अगस्त को खत्म होगी. राहुल गांधी अभी दो दिन के केरल दौरे पर हैं, जो कि बुधवार को खत्म हो जाएगी. केरल भी भयंकर बारिश और लैंडस्लाइड के बाद आई तबाही से जूझ रहा है. राज्य में कई जानें गई हैं और हजारों लोग बेघर हुए हैं.