अमृतसर: जलियांवाला बाग कांड के सौ साल पूरे होने पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज सुबह जलियांवाला बाग नेशनल मेमोरियल पर माल्‍यार्पण कर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की. इस दौरान पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह और राज्य मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू भी मौजूद रहे. बता दें कि 13 अप्रैल, 1919 को ब्रिटिश सेना द्वारा नरसंहार किया गया था, जिसमें सैकड़ों लोग मारे गए थे.

 

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी शुक्रवार देर रात ही अमृतसर पहुंच गए थे. यहां पहुंचने के बाद राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के साथ स्वर्ण मंदिर परिसर का दौरा किया, जहां उन्होंने मत्था टेका. शनिवार सुबह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जलियांवालाबाग स्मारक पर माल्यार्पण किया. बता दें कि
13 अप्रैल (शनिवार) को नरसंहार की 100वीं वर्षगांठ है, जिसमें ब्रिगेडियर जनरल रेजिनाल्ड डायर के नेतृत्व में ब्रिटिश सेना ने महिलाओं और बच्चों सहित सैकड़ों निहत्थे, निर्दोष भारतीयों पर गोलियां चलाईं, जो ब्रिटिश सरकार के दमनकारी रौलट अधिनियम के खिलाफ शांतिपूर्ण तरीके से विरोध कर रहे थे.

पहले कनस्तर बजा फिर हुआ जलियांवाला बाग हत्याकांड, जानें उस दिन की पूरी कहानी…

अमृतसर में निकाला गया कैंडल मार्च
इससे पहले शुक्रवार शाम जलियांवाला बाग हत्याकांड की 100वीं बरसी की पूर्व संध्या पर छात्रों, स्थानीय निवासियों और आगंतुकों सहित सैकड़ों लोगों ने अमृतसर में कैंडललाइट मार्च निकाला गया. उधर, ब्रिटिश सरकार ने 100 साल बाद भी नरसंहार पर महज खेद जताया है. बता दें कि उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू शनिवार दोपहर को जलियांवाला बाग हत्याकांड के 100 साल पूरे होने के मौके पर मुख्य समारोह के लिए यहां पहुंचेंगे.