rahulgandhi-protesting

नई दिल्ली, 2 दिसम्बर | कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार पर महत्वपूर्ण नीतिगत मुद्दों पर यू-टर्न लेने का आरोप लगाते हुए मंगलवार को संसद के बाहर एक प्रदर्शन का नेतृत्व किया। प्रदर्शन के दौरान पार्टी के अन्य सांसदों के साथ राहुल गांधी संसद परिसर स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा तक गए और वहां पार्टी की ओर से जारी पर्चा बांटा। कांग्रेस ने ‘छह महीने पार, यू-टर्न सरकार’ नामक पुस्तिका में राजग सरकार के छह महीने के शासनकाल के दौरान उन 25 मुद्दों को गिनाया है, जिन पर सरकार ने कथित तौर पर यू-टर्न लिया। कांग्रेस के मुताबिक, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने झूठे वादे कर मतदाताओं को गुमराह किया।

कांग्रेस ने सोमवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार पर आरोप लगाया कि उसने अपने छह महीने के शासन के दौरान बार-बार रुख बदले हैं और 25 यू-टर्न लिए हैं। कांग्रेस महासचिव अजय माकन ने ‘छह महीने पार यू-टर्न सरकार’ शीर्षक वाली एक पुस्तिका जारी की, जिसमें भाजपा सरकार के वे 25 यू-टर्न गिनाए गए हैं, जिन पर विपक्ष में रहने के दौरान भाजपा के रुख ठीक आज के विपरीत थे।

माकन ने कहा, “आम चुनाव से पहले और बाद में राष्ट्रीय मुद्दों पर भाजपा के रुख में आए बदलाव पर यह एक पुस्तिका है। इस सरकार ने पिछले लगभग 180 दिनों के दौरान 25 यू-टर्न लिए हैं। यानी प्रत्येक सात-आठ दिनों में औसतन एक यू-टर्न।” माकन ने कहा कि सरकार ने जिन मुद्दों पर अपने रुख बदले हैं, उनमें काला धन, असैन्य परमाणु क्षतिपूर्ति दायित्व अधिनियम, और बांग्लादेश भूमि समझौता शामिल हैं।

माकन ने कहा, “पुस्तिका की छपाई के दौरान सरकार ने तीन यू-टर्न लिए हैं, लिहाजा उन्हें इसमें शामिल नहीं किया जा सका है।” माकन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर तीव्र हमला करते हुए कहा कि सरकार चुनाव पूर्व किए अपने वादे पूरा करने में विफल रही है और उसने सिर्फ सत्ता हासिल करने के इरादे से जनता को मूर्ख बनाया है।

उन्होंने कहा, “वे सिर्फ सत्ता पर कब्जा करना चाहते थे, भले ही इसके लिए मतदाताओं को मूर्ख बनाना पड़े। उन्होंने इस देश की जनता को भ्रमित किया। यह सरकार यू-टर्न सरकार के रूप में जानी जाएगी।”