मुंबई: गुजरात पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल ने शुक्रवार को कहा कि वह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को ‘‘अपना नेता’’ नहीं मानते. उन्होंने प्रियंका गांधी के भी सक्रिय राजनीति में प्रवेश की वकालत की. उन्‍होंने यह भी माना कि उनकी एक गर्लफ्रेंड है और वे उसी से शादी करेंगे.Also Read - Punjab News: कैप्टन अमरिंदर ने राज्यपाल को सौंपा इस्तीफा, अब पंजाब की कमान किसे सौंपेगी कांग्रेस! फैसला थोड़ी देर में...

एक कार्यक्रम में शिरकत करते हुए पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएएस) के नेता ने घोषणा की कि योग्यता के अनुरूप 25 वर्ष का होने के बावजूद वह आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे. पहले ऐसी चर्चाएं थीं कि हार्दिक अगले आम चुनावों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ खड़े हो सकते हैं. उन्‍होंने बताया कि 25 साल पूरे होने के बाद कोई उन्‍हें चुनाव लड़ने से नहीं रोक सकता, लेकिन वे पहले लोगों की इच्‍छाओं और मांगों को समझना चाहता हूं. Also Read - RSS पर विवादित बयान देने पर राहुल गांधी के खिलाफ FIR दर्ज करने के लिए विचार कर रहे हैं: MP के गृह मंत्री

पटेल ने कहा, ‘‘मैं राहुल गांधी को व्यक्तिगत स्तर पर पसंद करता हूं लेकिन मैं उन्हें नेता नहीं मानता क्योंकि वह मेरे नेता नहीं हैं.’’ गुजरात के पाटीदार समुदाय के आरक्षण के लिए आंदोलन कर रहे पटेल ने पिछले वर्ष दिसम्बर में हुए विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस के साथ मिलकर काम किया था. उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस ने उनके आंदोलन का ‘‘पूरा समर्थन’’ किया होता तो गुजरात विधानसभा चुनावों में भाजपा की संख्या 60 होती न कि उसे 99 सीटें मिलतीं. 182 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस को 77 सीटें मिली थीं. Also Read - कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं कन्हैया कुमार, राहुल गांधी से की मुलाकात, जानें क्या है योजना

पटेल ने कहा, ‘‘लेकिन गुजरात विधानसभा में कांग्रेस के प्रतिनिधियों की संख्या देखकर खुशी होती है. अब वे गुजरात के लोगों की आवाज पूरे विश्वास के साथ उठा रहे हैं.’’ कार्यक्रम में भाग लेते हुए आरक्षण आंदोलन के दूसरे प्रमुख नेता और विधायक अल्‍पेश ठाकोर ने कहा कि गुजरात विधानसभा में बीजेपी को मिली सीटों का कारण उसके द्वारा चुनाव में पैसा और ताकत का इस्‍तेमाल करना था. यदि ऐसा नहीं होता तो विधानसभा की तस्‍वीर कुछ और होती.

इनपुट: एजेंसी