नई दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा की पुन: बहाली की मांग को लेकर निकाले गए विरोध मार्च की अगुवाई की और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस मुद्दे पर माफी मांगने को कहा. सीबीआई निदेशक से अधिकार वापस लिए जाने के सरकार के कदम के खिलाफ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने विरोध प्रदर्शन के दौरान गिरफ्तारी दी. इस दौरान उन्होंने कहा, कांग्रेस ‘चौकीदार’ को ‘चोरी’ नहीं करने देगी. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत की प्रत्येक संस्था को खत्म कर रहे हैं.

राहुल गांधी ने कहा, सरकार ने वर्मा से उनके सारे अधिकार लेकर उन्हें लंबी छुट्टी पर भेज दिया है. कांग्रेस ने वर्मा के खिलाफ की गई इस कार्रवाई को “अवैध एवं असंवैधानिक” करार दिया है. कांग्रेस के शीर्ष नेताओं ने इस मार्च में हिस्सा लिया जो सीबीआई मुख्यालय के बाहर पहुंचने के बाद विरोध प्रदर्शन में तब्दील हो गया. अन्य पार्टियों के नेताओं ने भी एकजुटता दिखाते हुए इस विरोध में हिस्सा लिया.

लोकतांत्रिक जनता दल के नेता शरद यादव, भाकपा नेता डी राजा और तृणमूल कांग्रेस के नदीम-उल-हक कांग्रेस के इस विरोध मार्च में शामिल हुए जो लोधी रोड स्थित दयाल सिंह कॉलेज के बाहर से शुरू हुआ. राहुल सीबीआई मुख्यालय के बाहर लगाए गए पुलिस बैरीकेडों के सामने एक ट्रक पर चढ़ गए. प्रदर्शनकारियों को इमारत तक पहुंचने से रोकने की खातिर वहां पुलिस बैरीकेड लगाए गए हैं.