नई दिल्ली: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को केंद्र सरकार पर कोरोनावायरस से लड़ने के लिए दोयम दर्जे के वेंटिलेटर्स खरीद कर लोगों की जिंदगी को खतरे में डालने का आरोप लगाया. राहुल ने एक आलेख को सदर्भित करते हुए ट्वीट कर कहा, “पीएम केयर्स की अपारदर्शिता : 1. भारतीय जीवन को खतरे में डालना. 2. लोगों के पैसे का इस्तेमाल दोयम दर्जे के उत्पाद खरीदने में करना.”Also Read - कल विपक्षी दलों के साथ नाश्ते पर मुलाकात करेंगे राहुल गांधी, जानिए किस मुद्दे पर होगी चर्चा

उन्होंने यहां तक कि एक हैशटैग ‘बीजेपी फेल्स कोरोना फाइट’ का भी इस्तेमाल किया है. न्यज आर्टिकल में एक पूर्व कर्मचारी का उद्धरण देते आरोप लगाया गया है कि पीएम केयर्स के वेंटिलेटर मेकर एजीवीए ने ‘खराब परफॉर्मेस’ को छुपाने के लिए सॉफ्टवेयर में हेराफेरी की है. Also Read - स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने वैक्सीन को लेकर राहुल गांधी से कहा- आपको स्वास्थ्य कर्मियों पर गर्व करना चाहिए

Also Read - राहुल गांधी ने ली कोविड रोधी टीके की पहली खुराक, अप्रैल में हो गए थे संक्रमित

इससे पहले रविवार को कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने भाजपा से पूछा, “कई सरकारी अस्पतालों के डॉक्टरों के विशेषज्ञ पैनल ने बताया कि एजीवीए हेल्थ केयर द्वारा आपूर्ति किए गए वेंटिलेटर्स दोयम दर्जे के हैं. सरकार क्यों संकट की इस घड़ी में दोयम दर्जे के उपकरण के साथ लाखों रोगियों के जीवन के साथ खिलवाड़ कर रही है.”

(इनपुट आईएएनएस)