नई दिल्ली: कांग्रेस छोड़ बीजेपी में गए ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर राहुल गांधी ने बड़ा बयान दिया है. राहुल गांधी ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने भविष्य को लेकर डरे हुए थे. सिंधिया ने जो किया है, उसका उन्हें जल्दी ही अहसास होगा. राहुल गांधी ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया की विचारधारा को मैं जानता हूं. सिंधिया ने अपनी विचारधारा को जेब में रखा और बीजेपी में शामिल हुए, जबकि ये विचारधारा की लड़ाई है. Also Read - कांग्रेस ने सामूहिक पलायन पर सरकार से पूछे सवाल, कहा- गरीबों की जिंदगी मायने रखती है या नहीं

ये हैं ज्योतिरादित्य सिंधिया की ‘राजकुमारी’ बेटी, 8 साल की उम्र में कर डाला था ये बड़ा काम Also Read - केजरीवाल ने लोगों को गीता पाठ करने की दी सलाह, कहा- गीता के 18 अध्याय की तरह लॉकडाउन के बचे हैं 18 दिन 

ये हैं ‘महारानी’ प्रियदर्शिनी, जिन्हें देखते ही दिल दे बैठे थे ज्योतिरादित्य सिंधिया, दुनिया की 50 खूबसूरत महिलाओं में रही हैं शामिल

राहुल गांधी ने कहा कि सिंधिया से मेरी दोस्ती पुरानी है. सिंधिया को बीजेपी में इज़्ज़त नहीं मिलेगी और न ही संतुष्टि मिलेगी. सिंधिया के दिल में कुछ और है और जुबान से इस समय कुछ और निकल रहा है. मैं उन्हें कॉलेज के ज़माने से जानता हूं. वह विचारधारा को अलग रख कर आरआरएस के साथ गए हैं. बता दें कि इससे पहले राहुल गांधी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर कहा था कि वह ही कांग्रेस में एक अकेले शख्स थे, जो कभी भी मेरे घर आ जा सकते थे.

400 कमरे, दीवारों पर सोना-चांदी: ऐसा है ‘महाराज’ ज्योतिरादित्य सिंधिया का महल, 4 हज़ार करोड़ है कीमत

18 सालों तक कांग्रेस में रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने भाजपा का दामन थाम लिया है, जिसके कुछ घंटों के भीतर ही उन्हें पार्टी से राज्यसभा का टिकट भी मिल गया था. सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी के वरिष्ठ नेता शिवराज सिंह चौहान ने सिंधिया को भाजपा की ओर से राज्यसभा का उम्मीदवार चुने जाने पर बधाई दी थी. सिंधिया की बगावत के बाद मध्य प्रदेश में कांग्रेस (Congress) की कमलनाथ सरकार मुश्किल में आ गई है. सिंधिया खेमे के 22 विधायकों ने भी इस्तीफा दे दिया है.