कोच्चि: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज केंद्र सरकार पर बाढ़ प्रभावित केरल को समुचित सहायता उपलब्ध नहीं कराने का आरोप लगाते हुए कहा कि इस मामले पर भाजपा की अगुवाई वाली राजग सरकार के दृष्टिकोण को लेकर वह ‘दुखी’ हैं. राहुल ने कहा कि वह बाढ़ग्रस्त दक्षिणी प्रदेश के पुनर्निर्माण के लिए संयुक्त अरब अमीरात जैसे देशों से मिलने वाली विदेशी सहायता को स्वीकार करने के पक्ष में हैं. Also Read - कांग्रेस ने सामूहिक पलायन पर सरकार से पूछे सवाल, कहा- गरीबों की जिंदगी मायने रखती है या नहीं

केरल के बाढ़ पीड़ितों के लिए AR Rahman ने मंच पर ही बदले गाने के बोल, कहा- Dont Worry Kerala, देखें Video Also Read - राहुल गांधी ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, बोले- अचानक बंद होने से भय और भ्रम पैदा हो गया है

राहुल ने यहां संवाददाताओं से कहा कि केंद्र सरकार का सहयोग केरल के बाढ़ प्रभावित लोगों का अधिकार है….लेकिन मैं दुखी हूं कि केंद्र ने प्रदेश को समुचित सहायता नहीं दी. विदेशों से मिलने वाली सहायता के प्रस्ताव को केंद्र द्वारा नकारे जाने के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि ‘यदि कोई केरल के लोगों का पीड़ा कम करने के लिए बिना शर्त आर्थिक सहायता देता है तो मैं खुद उसे ले कर आऊंगा.’ केरल के बाढ़ प्रभावित इलाकों के दो दिन के दौरे पर यहां पहुंचे राहुल ने कहा कि वह यहां ‘हालात के राजनीतिकरण के लिए’ नहीं आए हैं. Also Read - यूपी: रायबरेली में सोनिया गांधी के 'लापता' होने के लगे पोस्टर, संसदीय क्षेत्र से बाहर होने पर उठे सवाल

केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए 700 करोड़ रुपए की सहायता देगा UAE

राहुल गांधी ने बताया कि उन्होंने प्रदेश में बाढ़ की स्थिति पर कल मुख्यमंत्री पिनराई विजयन के साथ चर्चा की. उन्होंने कहा कि कल प्रदेश के विभिन्न जिलों में राहत शिविरों का दौरा करते हुए उन्हें यह महसूस हुआ कि राज्य सरकार ने जिस सहायता का वादा किया है वह शीघ्र दी जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि वादे के मुताबिक 10 हजार रूपये का मुआवजा शीघ्र दिया जाए. शिविरों में रह रहे लोगों में यह भावना है कि मुआवजे की राशि अभी तक नहीं दी गई है.’ कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि केरल भयावह त्रासदी से गुजर रहा है और वह ऐसे में राज्य के लोगों के साथ हैं. खराब मौसम की वजह से राहुल वयनाड नहीं गए और इदुक्की के बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा करने के लिए चले गए.