नई दिल्‍ली: केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने आज शनिवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी एक ट्वीट कर जवाब ट्वीट से पलटवार किया है, जिसमें राहुल ने लद्दाख में चीन के साथ गतिरोध पर आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री ने भारतीय क्षेत्र चीन को सौंप दिया है. उन्होंने ट्वीट किया, “प्रधानमंत्री ने चीनी आक्रामकता के आगे भारतीय क्षेत्र को चीन को सौंप दिया है. राहुल गांधी के ट्वीट के जवाब में केंद्रीय अमित शाह ने एक घायल सैनिक के पिता का वीडियो शेयर करते हुए कहा है, श्रीमान राहुल गांधी को छुद्र राजनीति से उठाना चाहिए और देशहित में खड़े हों. Also Read - सबूतों की कमी की वजह से श्रीलंका क्रिकेट ने 2011 विश्व कप 'मैच फिक्सिंग' जांच बंद की

अमित शाह ने गलवान घाटी में घायल एक सैनिक के पिता का वह वीडियो रिट्वीट किया है, जिसमें जवान के पिता कह रहे हैं कि इंडियन आर्मी एक मजबूत सेना है और चीन को हरा सकती है. राहुल गांधी इसमें राजनीति मत करो. मेरा बेटा सेना में लड़ा है और सेना में लड़ना जारी रखेगी. यह वीडियो GalwanValley Clash में घायल एक जवान के पिता है. Also Read - लद्दाखवासी कहते हैं चीन ने हमारी जमीन ली और प्रधानमंत्री कहते हैं नहीं, कोई तो झूठ बोल रहा है: राहुल

शाह ने ट्वीट कहा, एक बहादुर सैनिक के पिता ने कहा है और उनके पास श्री राहुल गांधी के लिए एक बहुत स्पष्ट संदेश है ऐसे समय में जब पूरा देश एकजुट है श्रीमान राहुल गांधी को भी क्षुद्र राजनीति से ऊपर उठना चाहिए और राष्ट्रीय हित के साथ एकजुटता में खड़े होना चाहिए.

बता दें कि इससे पहले राहुल गांधी ने पिता के एक पुराने वीडियो को एक टिप्पणी के साथ रीट्वीट किया था, जिसमें कहा गया था कि कैबिनेट मंत्री गलवान घाटी की घटना के बारे में झूठ बोल रहे हैं.

प्रधानमंत्री ने भारतीय क्षेत्र चीन को सौंप दिया: राहुल
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने लद्दाख में चीन के साथ गतिरोध पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान को लेकर शनिवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री ने भारतीय क्षेत्र चीन को सौंप दिया है. उन्होंने ट्वीट किया, “प्रधानमंत्री ने चीनी आक्रामकता के आगे भारतीय क्षेत्र को चीन को सौंप दिया है.” कांग्रेस नेता ने सवाल किया कि अगर यह भूमि चीन की थी तो हमारे सैनिक क्यों शहीद हुए? वे कहां शहीद हुए?

पीएम ने कहा था- न कोई हमारे क्षेत्र में घुसा और न ही हमारी चौकी पर कब्जा किया
बता दें कि पीएम मोदी ने भारत-चीन तनाव पर शुक्रवार को बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में कहा कि न कोई हमारे क्षेत्र में घुसा और न ही किसी ने हमारी चौकी पर कब्जा किया है. प्रधानमंत्री ने लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़पों को लेकर बुलाई गई इस बैठक के अंत में कहा कि चीन ने जो किया है उससे पूरा देश आहत और आक्रोशित है.