नई दिल्ली: कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी जल्द ही एक देशव्यापी यात्रा शुरू करने वाले हैं. इस यात्रा का मकसद भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेतृत्व वाली सरकार के आर्थिक मोर्चे पर विफलताओं को उजागर करना होगा साथ ही नागरिकता कानून (CAA) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (NRC) से लोगों को परिचित कराना इस यात्रा का मकसद होगा. राहुल गांधी ने कहा कि यह निर्णय पार्टी की सर्वोच्च समिति (कांग्रेस वर्किंग कमेटी) द्वारा 11 जनवरी को हुए मीटिंग में लिया गया है.

राहुल ने कहा कि अपनी यात्रा के दौरान वह किसानों, आदिवासियों, ग्रामीण श्रमिकों, छोटे व मध्यम व्यापारियों, उद्योगपतियों और पेशवरों को हो रही समस्याओं को लेकर मुद्दा उठाएंगे. उन्होंने कहा राजनीतिक दल के रूप में कांग्रेस पार्टी को CAA और NRC पर किए जा रहे विरोध प्रदर्शन को बनाए रखने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. आम लोगों के बीच आर्थिक मंदी की बात को सामने लाने के लिए इस यात्रा की शुरुआत की जा रही है.

राहुल गांधी ने कहा कि सीएए और एनआरसी एक अलग मुद्दा है लेकिन हमें और भाजपा के खिलाफ रहने वालों को चाहिए कि वह युवाओं, किसानों, व्यापारियों और पेशेवरों से संबंधित मुद्दों पर लोगों को उजागर करें. इस कार्यक्रम से पहले पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष युवा आक्रोश रैली को संबोधित करेंगे. इस रैली में वह बढ़ती बेरोजगारी सहित आर्थिक मुद्दों पर देश भर के युवाओं और छात्रों के साथ बातचीत करेंगे. यह कार्यक्रम 28 जनवरी को जयपुर में एक इंटरैक्टिव सत्र के साथ शुरू होगा. यहां उनसे देश में मौजूदा आर्थिक स्थिति के कारण युवाओं के सामने आने वाले रोजगार संकट के बारे में बात की जाएगी.