नई दिल्ली: फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति भारत के प्रधानमंत्री को चोर कह रहे हैं. मैं पूछता हूं कि ये सही है या नहीं. पीएम के मुंह से एक शब्द नहीं निकल रहा है. जवानों की जिंदगी का सवाल है. मोदी ने 30 हजार करोड़ रुपये का गिफ्ट अनिल अंबानी को दिया है.

यह एकदम स्पष्ट है कि पीएम मोदी और फ्रांस के बीच बंद कमरे में मुलाकात हुई थी. इस में मोदी ने स्पष्ट कहा था कि अनिल अंबानी की कंपनी ही साझीदार बनेगी. इससे स्पष्ट है कि प्रधानमंत्री भ्रष्ट हैं. देश का चौकीदार भ्रष्ट है.

मैं पीएम से कहता हूं कि आप सफाई दीजिए. मैं पीएम पद की गरिमा को बचाना चाहता हूं. पीएम ने कहा कि मैं राफेल की कीमत मैं नहीं बता सकता. मैंने पीएम से संसद में कहा कि कीमत के बारे में गोपनीयता बरतने की जरूरत नहीं है. फ्रांस ने भी यही कहा था, लेकिन प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री ने संसद में झूठ बोला कि कीमत का खुलासा नहीं किया जा सकता.