विधानसभा चुनाव से पहले गुजरात पहुंचे राहुल गांधी का एक बयान यहां कांग्रेस के लिए भारी पड़ सकता है, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) को कोसते-कोसते राहुल ऐसी बात कह गए जिसे बीजेपी आगामी चुनाव में भुना सकती है. पार्टी ने अभी से माहौल बनाना शुरू कर दिया है. आज राहुल ने एक जनसभा के दौरान संघ को महिला विरोधी बताया. उन्होंने सवाल उठाया कि क्या आपने कभी संघ में महिलाओं को शॉर्ट्स पहने देखा है? Also Read - क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया की BJP से कांग्रेस में वापसी होगी, राहुल गांधी ने आखिर क्यों कही ये बात?

राहुल का ये बयान गुजरात चुनाव में बीजेपी का हथियार बन सकता है. इसकी तैयारी शुरू हो गई है और पहला हमला किया है पूर्व सीएम आनंदी बेन पटेल ने. आनंदी बेन ने कहा कि सोनिया गांधी और राहुल की बहन से पूछा जाना चाहिए कि क्या ऐसे शब्द राहुल को शोभा देते हैं? क्या आपको ये पसंद आया? कोई महिला नहीं कहेगी कि ये अच्छा लगा. ये आपका संस्कार है कांग्रेस का संस्कार है. Also Read - राहुल गांधी ने कहा- ज्योतिरादित्य की कांग्रेस में एक हैसियत थी, अब BJP में दर्शकों की तरह पीछे बैठते हैं

आनंदी बेन ने कहा, महिलाएं जहां जाती हैं, बैठती हैं, वहीं आपकी दृष्टि रहती है. सभी महिलाओं, माताओं, बहनें को सुदृष्टि से देखना चाहिए. महिलाओं के लिए अलग शाखाएं हैं. उसको ये पता ही नहीं है कि अलग शाखा है. पूरे देश में लाखों शाखाएं चलती हैं और लाखों महिलाएं उसमें आती हैं. उसको पता नहीं है तो पूछे, सर्च करे यूट्यूब पर और देखे कि कितनी महिलाएं शाखाओं में जाती हैं.

क्या कहा था राहुल ने?  

राहुल ने कहा कि इनकी (बीजेपी) सोच है कि जब तक महिला चुप रहे, कुछ ना बोले तक तक ठीक है. जैसे ही महिला ने बोलना शुरू  किया, उसको चुप कराओ. इनका मुख्य संगठन आरएसएस है. उसमें कितनी महिलाएं हैं? कभी शाखा में महिलाओं को देखा है शॉर्ट्स में? मैंने तो नहीं देखा. 

Amit shah and Yogi adityanath reaches Amethi, will join mega event | मोदी के गढ़ पहुंचे राहुल तो बीजेपी दिग्गजों ने राहुल के दुर्ग अमेठी में डाला डेरा  

Amit shah and Yogi adityanath reaches Amethi, will join mega event | मोदी के गढ़ पहुंचे राहुल तो बीजेपी दिग्गजों ने राहुल के दुर्ग अमेठी में डाला डेरा  

राहुल सोमवार से 3 दिन के गुजरात दौरे पर हैं. इसी दौरान आज एक जनसभा में राहुल ने संघ पर हमला बोलते हुए ये बयान दिया. अगर उनके इस बयान ने तूल पकड़ा तो कांग्रेस को लेने के देने पड़ सकते हैं. पिछले 15 साल से गुजरात की सत्ता पर काबिज बीजेपी के खिलाफ पाटीदारों में गुस्सा है. दलितों के खिलाफ हुई घटनाएं भी बीजेपी के लिए चिंता का सबब है. ऐसे में कांग्रेस इस बार सत्ता पलटने का मंसूबा पाले हुए है. यही वजह है कि राहुल लगातार गुजरात का दौरा कर रहे हैं. लेकिन उनका ये बयान पार्टी पर भारी पड़ सकता है.