Railway-Buses-flights Tickets Booking New Guidelines: 1 जून यानी सोमवार से देश में काफी कुछ बदलने वाला है. पूरे देश में 25 मार्च से लॉकडाउन लगा हुआ था लेकिन अब इसमें धीरे धीरे राहत दी जा रही है. सोमवार से लॉकडाउन में राहत के साथ ही आपके दैनिक जीवन यापन से जुड़ी कई चीजों में बड़ा बदलाव भी होने वाला है. इनमें आपको सबसे ज्यादा बदलाव रेल, बस और फ्लाइट्स के नियमों में देखने को मिलेगा. आइए जानते हैं कि आखिर एक जून से कौन कौन से बड़े बदलाव हमें देखने को मिलेंगे. Also Read - बिहार: AIIMS- पटना में कोरोना संक्रमण के चलते 2 डॉक्‍टरों ने तोड़ा दम

फिर से दौड़ेंगी 200 Trains Also Read - Bengluru Lockdown: आज से लागू होगा टोटल लॉकडाउन, जानें क्या खुलेगा और क्या नहीं?

जब से देश में लॉकडाउन (Lockdown) लगा है तब से लोग सिर्फ यही सवाल कर रहे थे कि आखिर दोबारा ट्रेन कब चलेंगी तो सबसे बड़ा बदलाव हमें यही देखने को मिलेगा. भारतीय रेल 1 जून से 200 ट्रेन चलाने जा रहा है. इंडियन रलवे (India Railway) ने इसकी पूरी तैयारी कर ली है. जानकारी के मुताबिक यह सभी ट्रेन नॉन एसी (Non AC Trains) रहेंगी. यह उन लोगों के लिए एक बड़ा राहत भरा कदम होगा जो लोग लॉकडाउन की वजह से दूसरे शहर में अपने घर से दूर फंसे हुए हैं. अब लोग इन ट्रेन के माध्यम से आसानी से अपने घर पहुंच जाएंगे. एक जून से शुरू होने वाली सभी ट्रेनों के लिए नई गाइड लाइन भी जारी की गई है. इंडियन रेलवे (Indian Railway) और आईआरसीटीसी (IRCTC) लगाता कोशिश कर रही है है कि हालात सामान्य बनाए जाएं और लोग बिना किसी तकलीफ के घर पहुंच सकें Also Read - Lockdown In Haryana Latest News Update: हरियाणा के इन जिलों में लग सकता है लॉकडाउन

Go Air Service होगी शुरू

1 जून से गो एयर (GO Air) अपनी फ्लाइट सर्विस  (Flight Services)शुरू कर देगा. आपको बता दें कि देश भर में कई विमानन कंपनियों ने अपनी हवाई यात्रा को 25 मई से ही देशभर में शुरू कर दिया है लेकिन गो एयर ने अपनी सर्विस को 1 जून से बहाल करने का निर्णय लिया था. हमें याद रखना होगा कि अब हम पहले की तरह हवाई यात्रा नहीं कर सकते. कोरोनावायरस के खतरे के बाद हमें हवाई यात्रा में कई तरह के नियमों का पालन करना आवश्यक होगा.

शुरू होंगी उत्तर प्रदेश परिवहन की बसें

योगी आदित्यनाथ की सरकार एक जून से पूरे राज्य में उत्तर प्रदेश परिवहन विभाग की बसों को यात्रा के लिए फिर से शुरू करने जा रही है. राज्य सरकार ने परिवहन विभाग को 30 मई तक सभी बसों को पूरी तरह से सही करने के निर्देश दिए थे. इसके साथ ही बस संचालन के लिए जो गाइड लाइन बनाई गई है उसके पालन की जिम्मेदारी बस अड्डा प्रभारी से लेकर ड्राइवर और कंडक्टर तक की होगी. बस अड्डे पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना आवश्यक होगा और बसों की क्षमता से आधे यात्री ही सफर करेंगे.