नई दिल्ली: अगर आप ट्रेन में यात्रा करते हैं, तो यह खबर आपके काम की है. भारतीय रेलवे ने यात्रियों के लिए एक नई सेवा की शुरुआत की है. रेल यात्री अब कैंसिल हुई टिकट का रिफंड स्टेट्स घर बैठे से चेक कर सकते हैं. इसके लिए रेलवे ने हाल ही में एक नई वेबसाइट लॉन्च की है. वेबसाइट की मदद से टिकट काउंटर और ऑनलाइन, दोनों तरह की टिकट का स्टेट्स जानने में आसानी होगी. रेल टिकट रिफंड के लिए आपको रेलवे काउंटर पर जाने की जरूरत नहीं होगी. टिकट के पीएनआर नंबर से ही आप रिफंड की ताजा जानकारी हासिल कर सकते हैं. इससे आपको पता लग जाएगा कि रिफंड मंजूर हुआ है कि नहीं. अगर हुआ तो चेक या ड्राफ्ट तैयार हुआ या नहीं या फिर उसे आपके पते पर भेजा गया है या नहीं. Also Read - Indian Railway News: Cyclone Nivar के कारण इन ट्रेनों को किया गया रद्द, कुछ के बदले रूट

रेलवे बोर्ड के सूचना एवं प्रचार निदेशक वेदप्रकाश का कहना है कि दरअसल कुछ मामलों में रिफंड के लिए यात्री को अपना टिकट जमा कराना होता है और बाद में रेलवे यह जांच करता है कि टिकटधारक ने यात्रा तो नहीं की. ऐसे मामले में टिकट जमा करते वक्त यात्री को टिकट डिपॉजिट रसीद (टीडीआर) दी जाती है. Also Read - Indian Railways News: बंगाल, झारखंड, वाराणसी, बिहार, मुंबई रूट पर 1 दिसंबर से चलेंगी स्पेशल ट्रेनें, जानें सबकुछ

वेबसाइट पर जाकर PNR नंबर डालना होगा
जानकारी के मुताबिक रिफंड की स्थिति जानने के लिए यात्रियों को refund.indianrail.gov.in पर जाकर केवल पीएनआर नंबर डालना होगा. यहां से यात्री अपने रिफंड की स्थिति के बारे में तुरंत ही जानकारी पा सकेंगे. यह प्रणाली विशेष रूप से उन यात्रियों की सहायता करेगी, जिन्हें टीडीआर के माध्यम से टिकट काउंटर पर टिकट को जमा करने के लिए मजबूर होना पड़ता है. Also Read - Indian Railway Irctc: 1 दिसंबर से क्या फिर बंद होंगी सभी ट्रेनें? आखिर क्या है सरकार की योजना

बता दें कि अबतक  IRCTC की वेबसाइट के जरिए टिकट बुक करने वाले यात्रियों को ही उनके रद्द रेल टिकट पर आगे की प्रक्रिया और रिफंड की स्थिति के बारे में मेल या मैसेज भेजे जाते थे. भारतीय रेल टिकट सभी टिकट काउंटर, IRCTC की वेबसाइट और रेलवे पूछताछ नंबर 139 के जरिए रद्द कराया जा सकता है. TDR की स्थिति में ऑनलाइन टिकट रद्द कराने पर रिफंड की राशि यात्री के बैंक खाते में पांच दिनों में आ जाती है, जबकि काउंटर पर टिकट रद्द कराने पर सात दिनों में रिफंड मिलता है. रेल यात्री अब अपने अपने कैंसल टिकट के रिफंड की स्थिति पर लगातार नजर रख पाएंगे.