नई दिल्ली: रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को नई दिल्ली से लोहियां खास जाने वाली ‘सरबत दा भला एक्सप्रेस’ ट्रेन को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से हरी झंडी दिखा कर रवाना किया. पहले नई दिल्ली-लुधियाना इंटरसिटी के नाम से जानी जाने वाली यह ट्रेन अब पवित्र शहर सुल्तानपुर लोधी होते हुए जालंधर में लोहियां खास तक जाएगी. समारोह में केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन और हरसिमरत कौर बादल मौजूद थे. गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व के अवसर पर ट्रेन का नया नामकरण करने का अनुरोध केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने किया था.

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि कल ही वंदे भारत ट्रेन की शुरुआत की गयी जो श्रद्धालुओं को माता वैष्णो देवी तक लेकर जाएगी और आज यह ट्रेन तीर्थयात्रियों को सुल्तानपुर लोधी तक पहुंचाएगी. उन्होंने कहा कि रेलवे द्वारा तीर्थों से जोड़ने से अधिक पवित्र कार्य और कुछ नहीं हो सकता. बादल ने ट्रेन का नाम बदलने के प्रस्ताव को स्वीकार करने के लिए गोयल को धन्यवाद दिया और कहा कि पंजाब के लोगों के लिए यह भावनाओं ने जुड़ा हुआ मुद्दा है.

उन्होंने कहा कि ‘सरबत दा भला’ या सभी का कल्याण गुरु नानक देव की शिक्षा का मूल है, इसीलिए ट्रेन का यह नामकरण किया गया. बठिंडा से सांसद बादल ने कहा कि सिखों के लिए यह एक ऐतिहासिक अवसर है. उन्होंने कहा कि सुल्तानपुर लोधी में गुरु नानक ने अपने जीवन के 14 वर्ष गुजारे थे और सभी समुदायों के एक होने की शिक्षा दी थी.

स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि यह ट्रेन दिल्ली के निवासियों के लिए उपहार है. उन्होंने कहा कि नयी दिल्ली स्टेशन से एयरपोर्ट मेट्रो और येलो लाइन को जोड़ने के लिए ‘स्काईवॉक’ पुल बनाया जाएगा. रेल मंत्री गोयल ने गुरु नानक को शांति का दूत बताते हुए कहा कि गुरु नानक की 550वीं जयंती मनाने की खुशी अकल्पनीय है. ट्रेन को नयी दिल्ली रेलवे स्टेशन से शुक्रवार को प्रातः 6.30 बजे रवाना किया गया और वह सुल्तानपुर लोधी अपरान्ह 2.38 बजे पहुंचेगी.