नई दिल्ली: भारतीय रेलवे अब एक सितंबर से यात्रियों को मुफ्त यात्रा बीमा का लाभ नहीं देगा. यात्रियों को वेबसाइट या मोबाइल से टिकट बुक करते समय दो विकल्पों में से एक का चयन करना होगा, जिसमें एक में विकल्प चयन का होगा और दूसरा छोड़ने का होगा. बता दें कि आईआरसीटीसी ने डिजिटल लेन-देन बढ़ाने के लिए  रेलयात्रियों के लिए दिसंबर 2017 में मुफ्त यात्रा बीमा शुरू की थी. रेलवे ने इससे पहले डेबिट कार्ड से भुगतान पर बुकिंग प्रभार भी माफ कर दिया था. Also Read - पंजाब में ट्रेनों को रोकना किसान हितों के खिलाफ, यूनियन का फैसला ठीक नहीं: सीएम अमरिंदर सिंह

रेल मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि भारतीय रेल खान-पान एवं पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) ने एक सितंबर से मुफ्त यात्रा बीमा की सुविधा बंद करने का फैसला किया है और बीमा का प्रावधान वैकल्पिक होगा. यह जानकारी रेल मंत्रालय के एक अधिकारी ने शनिवार को दी. Also Read - India Railway Chhath Puja Special Trains: छठ पर जाना चाहते हैं बिहार, झारखंड तो देखें ये लिस्ट, रेलवे ने चलाई स्पेशल ट्रेन

आईआरसीटीसी द्वारा प्रदत्त बीमा के तहत यात्रा के दौरान दुर्घटना में यात्री की मौत होने की स्थिति में अधिकतम 10 लाख रुपए तक की बीमा का प्रावधान किया गया था. वहीं, यात्रा के दौरान दुर्घटना में अपाहिज होने पर 7.5 लाख रुपए और घायल होने पर दो लाख रुपए और शव के परिवहन के लिए 10,000 रुपए का प्रावधान किया गया था. यात्रा बीमा शुल्क के संबंध में अगले कुछ दिनों में आदेश आने की संभावना है. लेकिन कितना शुल्क लगाया जाएगा, इसका खुलासा अभी नहीं हुआ है. Also Read - रेलवे का पंजाब में ट्रेन सेवा शुरू करने से इन्कार, कहा- स्टेशनों के आसपास जमा हैं आंदोलनकारी

रेल मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि डिजिटल लेन-देन को प्रोत्साहन देने के लिए आईआरसीटीसी ने रेलयात्रियों के लिए दिसंबर 2017 में मुफ्त यात्रा बीमा शुरू की थी. रेलवे ने इससे पहले डेबिट कार्ड से भुगतान पर बुकिंग प्रभार भी माफ कर दिया था.