नई दिल्ली: रेलवे बोर्ड ने अपनी जोनल इकाइयों से कहा है कि रेलवे को कोरोना वायरस के मरीजों के इलाज के लिए ट्रेनों के 20,000 डिब्बों को पृथक वार्ड में तब्दील करने की जरूरत पड़ सकती है. बोर्ड ने सोमवार को जोनल रेलवे के महाप्रबंधकों को एक पत्र में कहा है कि शुरूआत में 5,000 कोच को पृथक वार्ड में तब्दील करने की जरूरत होगी. इसके लिए उनसे तैयारियां करने को कहा है. Also Read - Oxygen Concentrator: क्या होता है ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर, ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर के फायदे और यह कैसे काम करता है

बोर्ड ने कहा कि निर्णय के पहले रेलवे ने सैन्य बल चिकित्सा सेवा, विभिन्न जोनल रेलवे के चिकित्सा विभागों के साथ विचार-विमर्श किया है. बोर्ड ने कहा है कि पांच जोनल रेलवे कोच सह पृथक वार्ड के लिए प्रारूप पहले ही तैयार कर चुके हैं. Also Read - RP Singh के पिता की Covid-19 की चपेट में आने से मौत, इरफान पठान, पार्थिव पटेल समेत क्रिकेटर्स ने दी श्रद्धांजलि

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश में सोमवार को कोरोना वायरस के मामलों की संख्या 1,071 हो गई, जबकि 29 लोगों की मौत हो चुकी है. देश में कोरोना वायरस से संक्रमण की सोमवार तक तक 1071 मामलों में पुष्टि की जा चुकी है और इनमें से 29 मरीजों की मौत हो गई. Also Read - PM CARES Fund ने DRDO से ऑक्‍सीकेयर की 1.50 लाख यूनिट खरीदी के ल‍िए Rs 322.5 करोड़ मंजूर किए

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमण के 92 नए मामले सामने आए हैं, जबकि इस अवधि में चार मरीजों की मौत हुई है. अब तक 99 संक्रमित मरीजों को इलाज के बाद स्वस्थ होने पर अस्पताल से छुट्टी दी गई है.