नई दिल्ली: कोरोना वायरस लॉकडॉउन के चौथे चरण में महाराष्ट्र सरकार के द्वारा अंतर जिला यात्रा पर रोक लगा देने के बाद रेलवे ने गुरुवार को उन विशेष ट्रेनों के सभी यात्रियों के टिकट रद्द कर दिए, जिन्हें राज्य के भीतर ही एक स्थान से दूसरे स्थान जाना था.Also Read - Mumbai: ED Raid के दौरान शिवसेना नेता आनंदराव अडसुल की तबीयत बिगड़ी, अस्‍पताल ले जाया गया

रेलवे ने गुरुवार को जारी एक आदेश में कहा कि एक जून से महाराष्ट्र में चलने वाली विशेष ट्रेनों के ऐसे यात्रियों की टिकटें स्वत: रद्द हो जाएंगी और यात्रियों को पूरा पैसा लौटाया जाएगा. Also Read - Bharat Bandh/Trains cancel: भारत बंद के चलते कई ट्रेनें हुईं रद्द, यहां देखें पूरी लिस्ट

आदेश में यह भी कहा गया है कि अगले आदेश तक महाराष्ट्र में राज्य के अंदर बुकिंग की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए. रेलवे के एक प्रवक्ता ने हालांकि, कहा कि इसका यह मतलब नहीं है कि महाराष्ट्र के स्टेशनों से ट्रेने नहीं चलेंगी. Also Read - Maharashtra Corporation Elections: आगामी निगम चुनावों में किसके साथ गठबंधन करेगी शिवसेना? संजय राउत ने दिया बड़ा बयान

प्रवक्ता ने बताया कि इसका मतलब यह हुआ कि लोग महाराष्ट्र में राज्य के स्टेशनों पर नहीं उतरेंगे. उदाहरण के लिए अगर कोई ट्रेन मुंबई से नासिक होकर कानपुर जाती है, तो कोई यात्री चाहे वह महाराष्ट्र के किसी भी स्टेशन से चढ़ा हो, प्रदेश की सीमा के भीतर किसी स्टेशन पर नहीं उतर सकता है.

प्रवक्ता ने बताया कि हालांकि, कोई यात्री नासिक में सवार होकर राज्य के बाहर कहीं भी जा सकता है. उन्होंने बताया कि केवल वे यात्री जिन्होंने महाराष्ट्र की सीमाओं के भीतर यात्रा करने के लिए टिकट लिया है, वे ऐसा करने में सक्षम नहीं होंगे.

रेलवे के मुताबिक, करीब 100 जोड़ी ट्रेनों का परिचालन एक जून से किया जाएगा, इनमें दुरंतो एक्सप्रेस, जन शताब्दी एवं कई अन्य लोकप्रिय गाड़ियां शामिल हैं.

रेलवे बोर्ड की ओर से जारी आदेश में यह भी कहा गया है कि यात्रियों को एक एसएमएस भेजा जाएगा, जिसमें यह लिखा होगा कि ”महाराष्ट्र में यात्रा करने के लिए राज्य सरकार के प्रतिबंधों के कारण आपका टिकट रद्द कर दिया गया है और पूरा पैसा आपको वापस किया जाएगा.”