नई दिल्ली: बहुचर्चित राजा मान सिंह (Raja Man Singh Death Case) व दो अन्य लोगों की हत्या के मामले में 11 पुलिसकर्मियों को दोषी ठहराया गया है. पुलिसकर्मियों ने राजा मान सिंह का एनकाउंटर (Raja Man Singh Encounter) कर दिया था. राजस्थान पुलिस से जुड़े इस मामले की यूपी के मथुरा की एक अदालत ने करीब 35 साल बाद फैसला किया है. सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने मामला इस कोर्ट को ट्रांसफर किया था. अब अदालत इस नतीजे पर पहुंची कि पुलिसकर्मियों ने जानबूझकर एनकाउंटर में राजा मान सिंह की जान ले ली थी. दोषियों को बुधवार को सजा सुनाई जाएगी. इस मामले की चर्चा पूरे देश में रही थी. Also Read - Rajasthan Police Constable Exam 2020 Date: राजस्थान पुलिस 5438 कांस्टेबल पदों के लिए इस महीने आयोजित करेगी परीक्षा, जानें पूरी डिटेल 

राजा मान सिंह ने CM के हेलीकॉप्टर में मार दी थी कार की टक्कर
ये पूरा विवाद एक घटना से जुड़ा है. भरतपुर रियासत के राजा मान सिंह ने 20 फरवरी 1985 को राजस्थान के तत्कालीन सीएम शिवचरण माथुर के हेलीकॉप्टर को जीप की टक्कर से तहस-नहस कर दिया था. दरअसल हुआ ये था कि 1985 में राजस्थान विधानसभा चुनाव हो रहे थे. राजस्थान के डीग क्षेत्र से राजा मानसिंह निर्दलीय प्रत्याशी थे. इस बीच एक कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में सीएम शिवचरण माथुर की जनसभा 20 फरवरी, 1985 को होनी थी. इस सभा के समर्थन में किसी ने राजा मान सिंह के किले पर झंडा लगा दिया. इसे लेकर विवाद हुआ और राजा ने विवाद के बाद गुस्से में उसी दिन ही जनसभा के बीच सीएम के खड़े हेलीकॉप्टर में कार से जोरदार टक्कर मार दी. इससे हेलीकॉप्टर क्षतिग्रस्त हो गया था. Also Read - पुलिस उपनिरीक्षक की गाड़ी से 11 लाख रुपये और शराब की 21 बोतलें बरामद

अगले ही दिन राजा मान सिंह का पुलिस ने कर दिया था एनकाउंटर
कार से हेलीकॉप्टर में टक्कर मारने की घटना ने सभी को हिला दिया. इस घटना के अगले ही दिन 21 फरवरी, 1985 को राजा मान सिंह को पकड़ा और उनका एनकाउंटर कर दिया गया. राजा मान सिंह के दामाद विजय सिंह ने घटना की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. ये मामला सुप्रीम कोर्ट में था. इसकी जांच सीबीआई ने की थी. सुप्रीम कोर्ट ने ये मामला राजस्थान से मथुरा में ट्रांसफर कर दिया था. इस कोर्ट ने अब एनकाउंटर करने वाले 11 पुलिस कर्मियों को दोषी पाया है. अब बुधवार को इन पुलिसकर्मियों को सजा सुनाई जाएगी. Also Read - राजस्थान: घर से निकली दिव्यांग किशोरी से अपहरण कर 5 लोगों ने किया गैंगरेप, गांव के बाहर छोड़कर भागे