बाड़मेर: एक युवक ने फेसबुक पर लड़की के नाम का एक फर्जी एकाउंट बनाकर कर्नाटक के एक व्‍यवसाई से दोस्‍ती की और बाद में उसे मिलने के बहाने बुलाकर उसका अपहरण कर लिया. इतना ही नहीं आरोपी और उसके साथियों ने युवक से फिरौती के पांच लाख रूपए वसूलने के बाद उसे छोड़ा. ममाले को दो लोगों को अरेस्ट कर लिया गया है. मामला राजस्‍थान में सीमावर्ती बाड़मेर जिले के धोरीमन्‍ना थाना क्षेत्र का है. सर्किल अधिकारी रामनिवास सुंडा ने बताया कि पीड़ित व्यवसायी की शिकायत के आधार पर देर रात मुख्‍य आरोपी मांगीलाल विश्‍नोई (22) को उसके सहयोगी सुभाष विश्नोई को गिरफ्तार किया गया. Also Read - Jammu & Kashmir: आतंकवादियों ने जम्मू-कश्मीर के बडगाम में बीडीसी सदस्य की गोली मारकर की हत्या

Also Read - पूजा भट्ट को भी लग गई थी शराब की लत, बोलीं- ये ड्रग भी एक च्वाइस.....

‘लड़की’ ने FB पर ‘मिलने का मन है’ कहकर बुलाया, मिलने पहुंचा तो लुट गए 6 लाख रुपए Also Read - Delhi Riots: SC ने फेसबुक इंडिया के VP के खिलाफ 15 अक्टूबर कार्रवाई पर लगाई रोक

उन्होंने बताया कि आरोपियों को आज अदालत में पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया गया है और उनसे पूछताछ की जा रही है. उन्‍होंने बताया कि शेष आरोपियों की गिरफ्तारी के साथ ही रकम बरामदगी के प्रयास भी किए जा रहे है. पुलिस के मुताबिक इस वारदात में लिप्‍त लोग पूर्व में लूट और चोरी की अापराधिक वारदातों में लिप्‍त रह चुके हैं. उन्होंने बताया कि पीडित ने आरोपियों के चंगुल से छुटने के बाद धोरीमन्‍ना थाने में मामला दर्ज कराया. मामले की जांच के बाद मंगलवार देर रात मुख्‍य आरोपी और उसके एक साथी को गिरफ़्तार किया गया.

उन्होंने बताया कि पीडित कर्नाटक के बलारी निवासी व्यवसायी वसंत कुमार जैन, की शिकायत के अनुसार करीब डेढ़ माह पूर्व उसकी फेसबुक पर ‘पूजा’ नाम की लड़की से दोस्‍ती हुई थी. पहले दोनों फेसबुक पर बातें करते रहे और बाद में व्हाट्सएप और फोन पर बात की. इस दौरान पूजा ने 7 जुलाई को उसे मिलने के धोरीमन्‍ना बुलाया. पीडित जैन ने पुलिस को बताया कि जब वह धोरीमन्‍ना पहुंचा, उस समय करीब 8-10 लोगों ने उसका अपहरण कर लिया और अनजान जगह ले गए. आरोपियों ने उसकी जेब से 13 हजार रुपए लूट लिए और मारपीट की. इसके बाद उसे छोड़ने के लिए पांच लाख रुपए की फिरौती मांगी. रिश्तेदार से पांच लाख रुपए की फिरौती लेने के बाद उसे आठ जुलाई को छोड़ दिया गया. पीडि़त ने पुलिस को बताया कि वह मूल से रूप से बाड़मेर के बालोतरा का रहने वाला है और कर्नाटक में व्‍यवसाय करता है.