जयपुर: पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों से परेशान जनता को राजस्थान में कुछ राहत मिली है. राजस्थान सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर वैट को चार-चार प्रतिशत कम करने की घोषणा की है. रविवार को की गई इस घोषणा से राज्य में पेट्रोल व डीजल ढाई रुपये प्रति लीटर तक सस्ता होगा.Also Read - देश में आसमान छू रहे सब्जी के भाव, विक्रेता बोले- पेट्रोल-डीजल की कीमतें जिम्मेदार

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने अपनी राजस्थान गौरव यात्रा के तहत हनुमानगढ़ के रावतसर कस्बे में एक सभा में पेट्रोलियम ईंधन सस्ता करने वाले इस निर्णय की घोषणा की. इसके तहत राज्य में पेट्रोल पर वैट 30 से घटाकर 26 प्रतिशत और डीजल पर 22 से घटाकर 18 प्रतिशत किया गया है. Also Read - Petrol Diesel Price Today: पेट्रोल-डीज़ल के कीमतें आज भी बढ़ीं, पेट्रोलियम मंत्री बोले- कोरोना के बाद खपत अधिक हुई

Also Read - Petrol Diesel Price Today: पेट्रोल-डीज़ल आज फिर हुआ महंगा, जानें अपने शहर का भाव

मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि राज्य की आम जनता, किसानों व गृहिणियों को राहत देने के लिए राज्य सरकार ने यह कदम उठाया है. उन्होंने कहा कि इससे सरकार को 2000 करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान होगा. राजे ने यह घोषणा ऐसे समय में की है जब मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने पेट्रोल व डीजल के बढ़ते दाम के खिलाफ सोमवार को भारत बंद की घोषणा कर रखी है.

पेट्रोल और डीजल की कीमतें रविवार को एक नये रिकॉर्ड पर पहुंच गईं. वैश्विक बाजार में कच्चे तेल के बढ़ते दाम और रुपये में गिरावट से ईंधन की कीमतों में लगातार तेजी बनी हुई है. सरकारी ईंधन कंपनियों द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार रविवार को दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 12 पैसे और डीजल की 10 पैसे प्रति लीटर बढ़ गई. दिल्ली में रविवार को पेट्रोल की कीमत 80.50 रुपये और डीजल की कीमत 72.61 रुपये प्रति लीटर हो गई. यह ईंधन की कीमत का अब तक का उच्च स्तर है.

सभी मेट्रो शहरों और अधिकतर राज्यों की राजधानी के मुकाबले दिल्ली में ईंधन की कीमत सबसे कम है. ईंधन के दामों में उछाल की अहम वजह विभिन्न कारणों से कच्चे तेल के बाजार में लगातार तेजी और अमेरिकी डॉलर की रिकार्ड मजबूती है. इससे कुल मिला कर कच्चे तेल का आयात महंगा हुआ है. भारत को अपनी जरूरत का 80 प्रतिशत से अधिक तेल आयात करना होता है.

(इनपुट: एजेंसी)