नई दिल्ली: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने संशोधित नागरिकता कानून को लेकर मुसलमानों में “गलतफहमी पैदा करने के लिए” विपक्ष पर निशाना साधते हुए शुक्रवार को कहा कि प्रधानमंत्री “24 कैरेट का सोना” हैं और उनकी मंशा पर शक नहीं किया जाना चाहिए. महरौली में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि कोई भी मूल निवासी “मुस्लिम भाई” पर उंगली नहीं उठा सकता. उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों द्वारा वोट हासिल करने के लिये मुसलमानों में डर भरा जा रहा है.

निर्मला सीतारमण पर सभी की निगाहें इकोनॉमिक ग्रोथ पर रहेंगी टिकी

उन्होंने कहा, “हमारे प्रधानमंत्री 24-कैरेट हैं. उनकी मंशा पर शक नहीं किया जा सकता.” राजनाथ ने कहा कि यह सरकार ‘सबका साथ,सबका विकास और सबका विश्वास’ में भरोसा करती है. केजरीवाल पर निशाना साधते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि उनकी कथनी और करनी में अंतर है. सिंह ने कहा, “मेरा मानना है कि नेताओं को वादे नहीं करने चाहिए, और अगर वे करते हैं, तो फिर उन्हें निभाने के लिये उन्हें किसी भी हद तक जाना चाहिए.”

7th Pay Commission : #Budget2020 से बड़ी उम्मीद लगाए बैठे हैं केंद्रीय कर्मचारी, मिल सकती है यह बड़ी सौगात

वहीं दो दिन पहले ही राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने  कहा था की उन्हें लगता है कि संशोधित नागरिकता कानून के बारे में लोगों को गुमराह करके विदेशी ताकतें भारत को कमजोर करने की कोशिश कर रही हैं. उन्होंने कहा था ‘‘मुस्लिमों सहित कोई भी भारतीय नागरिक संशोधित नागरिकता कानून(CAA) के कारण अपनी नागरिकता नहीं खोएगा. अगर फिर भी किसी मुसलमान से उसकी नागरिकता पर कोई प्रश्न करता है, तो भाजपा उसके साथ खड़ी होगी.’’