नई दिल्लीः भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर(Pragya Singh Thakur) के लोकसभा में दिए एक विवादित बयान को लेकर बृहस्पतिवार को कांग्रेस के हंगामे के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह(Rajnath Singh) ने कहा कि नाथूराम गोडसे को देशभक्त मानने की सोच की वह और उनकी पार्टी निंदा करते हैं. रक्षामंत्री ने कहा कि महात्मा गांधी पूरे देश के लिए आदर्श हैं.

सदन की कार्यवाही आरंभ होने के बाद सदन में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी(Adhir Ranjan Chowdhury) ने प्रज्ञा के विवादित बयान का मुद्दा उठाया और कहा कि यह सदन इस तरह के बयानों की अनुमति कैसे दे सकता है. इस पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला(Om Birla) ने कहा कि टिप्पणी को रिकॉर्ड से हटा दिया गया है और ऐसी स्थिति में इस पर सदन के भीतर चर्चा करने का कोई मतलब नहीं है.

राजनाथ सिंह ने कहा कि नाथूराम गोडसे(Nathuram Godse) को देशभक्त मानने की सोच की पार्टी पूरी तरह निंदा करती है. उन्होंने यह भी कहा कि महात्मा गांधी(Mahatma Gandhi) पहले भी हमारे मार्गदर्शक थे और आज भी हैं, उनके विचार पहले भी प्रासंगिक थे और आज भी प्रासंगिक हैं. वहीं प्रज्ञा ठाकुर पर कार्रवाई करत उन्हें रक्षा मंत्रालय की समिति से हटा दिया गया है.

राहुल गांधी(Rahul Gandhi) ने भाजपा सांसद के विवादित बयान पर ट्वीट करते हुए लिखा कि यह संसद तके इतिहास के लिए एक काला दिन है. भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा(Jagat Prakash Nadda) ने संवाददाताओं से कहा कि भाजपा, लोकसभा सांसद प्रज्ञा ठाकुर की टिप्पणी की निंदा करती है, पार्टी ऐसे बयानों का कभी समर्थन नहीं करती.  नड्डा ने ठाकुर को रक्षा मामलों की परामर्श समिति से हटाये जाने की भी सिफारिश की. उन्होंने कहा कि ठाकुर संसद सत्र के दौरान भाजपा संसदीय दल की बैठक में हिस्सा नहीं लेंगी.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्रज्ञा ठाकुर पर भाजपा और भी बड़ी कार्रवाई कर सकती है. माना जा रहा है कि उन्हें पार्टी से निष्कासित किया जा सकता है. आज दूसरे दिन भी लोकसभा में इस मुद्दे को लेकर भारी हंगामा हुआ. एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि उन्हें रक्षा मंत्रालय की समिति से हटाना केवल एक दिखावे की कार्रवाई है.