बेंगलुरु: फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया ने ‘साउथ इंडियन फिल्म चैम्बर ऑफ कॉमर्स’ (एसआईएफसीसी) से कर्नाटक में रजनीकांत की फिल्म ‘काला’ को जल्द से जल्द रिलीज करने का अनुरोध किया है. कावेरी विवाद पर अभिनेता की कथित टिप्पणी को लेकर राज्य में फिल्म की रिलीज पर रोक लगा दी गई थी. कर्नाटक फिल्म चैम्बर ऑफ कॉमर्स (केएफसीसी) रजनीकांत के कथित बयान से खफा है. अभिनेता ने कहा था कि कर्नाटक में जो भी सरकार बने उसे कावेरी जल बंटवारे पर उच्चतम न्यायालय के आदेश का पूरी तरह से पालन करना चाहिए. Also Read - Ideal House Rent Act: केंद्र सरकार जल्द लाएगी आदर्श किराया कानून, जानिए- क्या इससे रुकेगा नई झोपड़पट्टियां बांधने का काम

केएफसीसी ने राज्य में फिल्म ‘काला’ की रिलीज की इजाजत नहीं देने का फैसला किया है. यह फिल्म सात जून को पूरी दुनिया में एक साथ रिलीज होनी है. फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया की अध्यक्ष साक्षी मेहरा ने बताया कि फेडरेशन ने एसआईएफसीसी से अनुरोध किया है कि फिल्म उद्योग के हित में केएफसीसी से बात करके फिल्म रिलीज कराएं. Also Read - केरल, महाराष्‍ट्र, दिल्‍ली राजस्‍थान समेत देश के कई राज्‍यों में कोरोना वायरस का प्रचंड प्रकोप, पढ़ेंं डिटेल

एसआईएफसीसी के सचिव एल सुरेश ने कहा कि उन्होंने केएफसीसी को एक पत्र भेज कहा है कि वह कन्नड़ संगठनों के साथ बैठक करके समस्या का समाधान निकालें. उन्होंने कहा, ‘‘मैंने केएफसीसी के अध्यक्ष सारा गोविंदू से बात की है और उन्हें एक पत्र भी लिखा है. केएफसीसी संगठन के साथ कल या परसो बैठक कर सकता है.’’ Also Read - Cyclone Nivar: तेजी से बढ़ रहा चक्रवाती तूफान निवार, इन राज्यों में मचा सकता है भारी तबाही, देखें VIDEO

सुरेश ने कहा कि सिनेमा का राजनीतिक के साथ घालमेल करना दुर्भाग्यपूर्ण है. इसके नतीजतन फिल्म उद्योग को नुकसान उठाना पड़ेगा.