लखनऊ। राज्यसभा चुनावों को लेकर यूपी में आज का दिन बेहद उठापटक भरा रहा. जैसा कि अंदेशा जताया जा रहा था, सपा और बसपा के एक एक विधायक ने बीजेपी को वोट देकर विपक्ष का खेल पूरी तरह पलट दिया. इसके अलावा निर्दलीय विधायक राजा भैया ने साफ कर दिया कि वह बसपा के साथ नहीं हैं. इन विधायकों के रुख ने बसपा उम्मीदवार भीमराव आंबेडकर की जीत की राह बेहद मुश्किल कर दी. Also Read - केंद्र और महाराष्ट्र सरकार पर बिफरी मायावती, कहा- इनके चक्कर में पिस रहे प्रवासी मजदूर

विधानसभा इमारत में तिलक सभागार में सुबह 9 बजे से मतदान शुरू हुआ. वोटिंग शुरू होने के साथ ही सियासी सरगर्मी बढ़ गई. जैसा कि अनुमान था, सपा विधायक नितिन अग्रवाल और बसपा विधायक अनिल सिंह ने बीजेपी के पक्ष में मतदान किया. दोनों विधायक दो दिन पहले ही सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ बैठक में भी नजर आए थे. आज वोट डालने के बाद दोनों ने साफ तौर पर इसका ऐलान भी कर दिया. Also Read - देश भर में प्रवासी मजदूरों कि इस हालत के लिए कांग्रेस और भाजपा दोनों ही जिम्मेदार हैं : मायावती

दो विधायकों की क्रॉस वोटिंग

राज्य सभा चुनाव में पहली क्रॉस वोटिंग बीएसपी विधायक अनिल सिंह ने भाजपा के लिए की. उन्नाव जिले के पुरवा क्षेत्र से विधायक अनिल सिंह ने कहा, महाराज जी को वोट दे रहा हूं, बाकी नहीं जानता. मैंने बीजेपी उम्मीदवार को वोट डाला है. अंतरात्मा की आवाज पर वोट दिया है. वहीं हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए पूर्व सपा नेता नरेश अग्रवाल के बेटे सपा विधायक नितिन अग्रवाल ने भी बीजेपी को वोट दिया. उन्होंने कहा, बीजेपी के सभी 9 उम्मीदवार जीतेंगे. सपा ने अपने कार्यकर्ताओं का अपमान किया. जनता जवाब देगी कि मनोरंजन करने वालों को चुनती है या समाज की सेवा करने वालों को.

राजा भैय्या भी साथ नहीं

उधर, बाहुबली विधायक राजा भैया ने भी सपा-बसपा को झटका दे डाला. वह सपा के साथ जरूर हैं, लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि मैं बसपा के साथ हूं. वहीं, निर्दलीय विधायक अमनमणि त्रिपाठी ने भी सपा-बसपा का खेल बिगाड़ दिया. अमनमणि ने कहा, गोरक्षनाथ पीठ में आस्था जताते हुए बीजेपी के पक्ष में मतदान करूंगा. बता दें कि सपा ने अपने विधायकों से बसपा को वोट देने को कहा है. लेकिन इन विधायकों के रुख से बसपा उम्मीदवार भीमराव आंबेडकर का खेल बिगड़ता नजर आ रहा है.

शिवपाल को अब भी भरोसा

हालांकि समाजवादी पार्टी के जसवंतनगर से विधायक शिवपाल सिंह यादव ने वोट डालने के बाद कहा कि उन्हें यकीन है कि बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार भीमराव अंबेडकर राज्यसभा सीट के लिए जीत दर्ज करेंगे. उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार के पक्ष में क्रॉस वोटिंग की खबरों को भी खारिज किया. उन्होंने कहा कि इस द्विवार्षिक चुनाव में पूरा विपक्ष एकजुट है.