नई दिल्ली। राज्यसभा की 58 में से 25 सीटों के लिए आज मतदान होगा. मतदान सुबह 9 बजे शुरू होगा और 4 बजे तक चलेगा. शाम पांच बजे मतगणना होगी और नतीजा घोषित कर दिया जाएगा. 33 सीटों पर एक ही उम्मीदवार होने के कारण इनका 15 मार्च को ही निर्विरोध निर्वाचन हो चुका है. आज छह राज्यों की 25 राज्यसभा सीटों के लिए मतदान होगा. इनमें उत्तर प्रदेश की 10 सीटें भी शामिल हैं और यहां मुकाबला बेहद दिलचस्प बन गया है. यहां पर पिछले साल गुजरात जैसा मुकाबला देखने को मिल सकता है जिसमें कांग्रेस उम्मीदवार अहमद पटेल बमुश्किल ही जीत सके थे. 

जानिए, किन राज्यों की कितनी सीटों पर हो रहा है राज्यसभा चुनाव

जानिए, किन राज्यों की कितनी सीटों पर हो रहा है राज्यसभा चुनाव

Also Read - स्मृति ईरानी ने कहा- कांग्रेस देश की चुनौतियों से फायदा उठाने की कोशिश में है, वो यही कर सकती है

Also Read - भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा कोविड-19 के लक्षणों के बाद अस्पताल में भर्ती

16 राज्यों की 58 सीटें अप्रैल और मई महीने में खाली हो रही हैं. 13 राज्यों से 50 राज्यसभा सदस्यों का कार्यकाल दो अप्रैल को और ओडिशा और राजस्थान से 6 राज्यसभा सदस्यों का कार्यकाल तीन अप्रैल, झारखंड से दो सदस्यों का कार्यकाल तीन मई को समाप्त हो रहा है. इनमें उत्तर प्रदेश से सर्वाधिक 10 सदस्यों का कार्यकाल 2 अप्रैल को खत्म हो रहा है. इसके अलावा महाराष्ट्र और बिहार से छह-छह, मध्य प्रदेश और पश्चिम बंगाल से पांच-पांच और गुजरात और कर्नाटक से चार-चार सदस्यों का कार्यकाल इसी दिन पूरा होगा. Also Read - लॉकडाउन को फेल बताने पर राहुल गांधी पर बीजेपी का पलटवार: झूठ नहीं फैलाएं, दुनिया के आंकड़े देखें

यूपी की दिलचस्प जंग

उत्तर प्रदेश से राज्यसभा की हर सीट के लिए 37 विधायकों के मत की दरकार होती है. राज्य विधानसभा में संख्या बल के आधार पर बीजेपी के आठ उम्मीदवारों का निर्वाचन तय है जबकि एक सीट सपा को मिलेगी. बीजेपी ने 9 उम्मीदवार उतारकर विरोधियों के माथे पर शिकन ला दी है. विपक्षी खेमे को क्रॉस वोटिंग का डर सता रहा है. सपा से जया बच्चन का चुना जाना तय है, लेकिन बीएसपी उम्मीदवार भीमराव आंबेडकर की जीत पर सस्पेंस बना हुआ है.

राज्यसभा चुनावों में वोट नहीं डाल पाएंगे बाहुबली मुख्तार अंसारी, कोर्ट ने लगाई रोक

एक सीट के लिए सपा और बीएसपी का बीजेपी से संयुक्त मुकाबला होगा. बीएसपी उम्मीदवार को 47 विधायकों वाली सपा के बाकी 10 विधायकों का समर्थन देने की पार्टी नेतृत्व ने पहले ही घोषणा कर दी है, लेकिन क्रॉस वोटिंग की आशंका के कारण बीएसपी प्रमुख मायावाती ने सपा नेतृत्व से बीएसपी उम्मीदवार को वोट देने वाले दस विधायकों की सूची मांगी थी. इस बीच इलाहाबाद हाई कोर्ट की तरफ से सपा विधायक हरिओम और बीएसपी विधायक बाहुबली मुख्तार अंसारी को मतदान से रोक देने पर सपा-बसपा की मुश्किलों में इजाफा हो गया है.

राज्यसभा 245 सीटें

राज्यसभा में कुल 245 सीटें हैं और बहुमत के लिए 126 सीटें जरूरी होती हैं. हालांकि इस चुनाव के बाद किसी पार्टी को सदन में बहुमत तो नहीं मिलेगा, लेकिन ज्यादा संख्याबल का फायदा बीजेपी को जरूर मिलेगा. मौजूदा समय में ऊपरी सदन में बीजेपी के सबसे ज्यादा 58 सांसद हैं जो कांग्रेस से चार ज्यादा है. चुनाव के बाद ऊपरी सदन में बीजेपी का संख्याबल बढ़ जाएगा.

इन 16 राज्यों में से 11 राज्य बीजेपी शासित हैं और . मतदान इस तरीके से होगा कि अगर विधायक के पसंदीदा उम्मीदवार को जीत के लिए पर्याप्त वोट मिल चुके हों या उसके जीत की कोई संभावना नहीं हो तो उसका वोट दूसरे पसंदीदा उम्मीदवार को चला जाएगा. राज्यसभा के सांसदों का कार्यकाल 6 साल का होता है. राज्यसभा के एक तिहाई सांसद हर दो साल में रिटायर होते हैं.