नई दिल्ली. केंद्रीयमंत्री राज्यवर्धन राठौड़ बुधवार को IndiaKaDNA प्रोग्राम में पहुंचे. इस दौरान उन्होंने कहा, हम 2014 से बड़े निर्णय ले रहे हैं और आखिरी तक लेंगे. हमने सर्जिकल स्ट्राइक किया. हमने अपने सिपाहियों को वर्दी के अंदर पाकिस्तान भेजा कि पूरे विश्व को संदेश जाए. हमने जीएसटी लागू किया. ये सब हमने वोटबैंक को ध्यान में रखते हुए नहीं किया. Also Read - महाराष्‍ट्र में सीएम की कुर्सी पर जंग के बीच नितिन गडकरी पहुंचे मुंबई, कयासबाजी जारी

केंद्रीयमंत्री ने कहा, देश के मतदाताओं को ये समझना होगा कि देश में क्या काम हो रहा है. हम लगातार कोशिश कर रहे हैं जनता से बातचीत होती रहे. हम अलग-अलग वर्गों से लगातार संवाद करते हैं. इसके लिए हमारे मंत्री पूरे देश में जाते हैं. इन सब चीजों से क्षेत्रीय पार्टियां जमीन पर आ गई हैं. Also Read - #IndiaKaDNA- अनुच्छेद 370 को हटाने के लिए नरेंद्र मोदी जैसे व्यक्ति की ही जरूरत थीः जितेंद्र सिंह

उन्होंने कहा, पेपर के ऊपर गणित करने से चुनाव नहीं जीते जाते. आजकल राजनीति बदल रही है. नई युग की राजनीति के अंदर नौजवान आगे बढ़ रहे हैं और इसके लिए उन्हें माहौल चाहिए और इसके लिए एक ऐसा लीडर चाहिए जिस पर वह विश्वास कर सके. पीएम ने लालबत्ती पर सीधा प्रहार किया. कई ऐसे सिस्टम को बंद कर दिया, जिससे जनता के पास योजनाएं पहुंचने से पहले ही रुक जाती थीं. एक आदमी लगातार टीम लेकर बेहतर काम कर रहा है और नौजवान इसे समझ रहे हैं. Also Read - #IndiaKaDNA- दूसरी सरकारें नए भारत की सोच को नहीं समझ सकीं : प्रकाश जावड़ेकर

खेल और राजनीति के दुनिया में कैसा अंतर है इस पर राठौड़ ने कहा, मान लीजिए आप सफेद कपड़े पहन कर निकले हैं. आपकी मां भी साथ में हैं और वह कीचड़ में गिर जाती हैं. तो आप अपने कपड़े नहीं बचाएंग, बल्कि मां को उठाएंगे. साल 2014 तक सिस्टम बेकार था. लगातार एक ही लीडरशीप सिस्टम में आती थी. ऐसे में नए सिस्टम में आने के लिए ऐसा करना पड़ा. हमें स्ट्रगल ऐसी जगह करनी चाहिए, जहां देश की बुनियाद है. पहले मुझे लगता था सेना में बहुत मेहनत होती है, खेलों में हार्डवर्क होता है, लेकिन आप प्रधानमंत्री मोदी की टीम में रहकर देखिए आपको समझ में आ जाएगा कितना काम होता है और कितना स्ट्रेस होता है.