नई दिल्ली: केंद्र सरकार द्वारा लागू कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आज टैक्टर मार्च निकाल रहे हैं. कल किसान और भारत सरकार के बीच नौवें दौर की बातचीत होने वाली है, इससे पहले किसानों ने आज अपना शक्ति प्रदर्शन किया है. किसान अपने ट्रैक्टर लेकर सड़कों पर आ चुके हैं. यह ट्रैक्टर मार्च कोंडली-मानेसर-पलवल के रास्ते एक्सप्रेस वे पर हो रही है.Also Read - राकेश टिकैत ने कहा- लोकसभा में कृषि कानून वापस होना 750 मृत किसानों को श्रद्धांजलि, MSP के लिए डटे रहेंगे

किसान ट्रैक्टर रैली के दौरान भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि हम सरकार को चेतावनी देने के लिए यह रैली निकाल रहे हैं. 26 जनवरी के दिन हम ट्रैक्टर परेड निकालने वाले हैं. टिकैत ने चेतावनी देते हुए कहा कि हम मई 2024 तक आंदोलन करने के लिए तैयार हैं. Also Read - लोकसभा के बाद सोमवार को ही राज्यसभा में पेश हो सकता है कृषि कानूनों को निरस्त करने वाला विधेयक, BJP ने अपने सांसदों को 'पूरी तैयारी' से आने को कहा

बता दें कि किसानों के साथ भारत सरकार की 8 बैठकें हो चुकी हैं, जिनमें सभी बैठके बेनतीजा रही हैं. एक बैठक में किसानों की कुछ बहातों को सरकार मान गई है लेकिन किसानों की मांग है कि पूरे कृषि कानूनों को हटाया जाए साथ ही MSP (न्यूनतम समर्थन मूल्य) को कानूनी वैधानिकता दी जाए. किसानों द्वारा निकाली गई ट्रैक्टर रैली कितनी विशाल है इसका अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि सड़क पर 15 किलोमीटर तक ट्रैक्टर ही ट्रैक्टर दिखाई दे रहे थे. Also Read - किसानों के खिलाफ मामले वापस लेगी हरियाणा सरकार? सीएम खट्टर बोले- केंद्र के निर्देशानुसार काम करेंगे