नई दिल्ली: देश के मशहूर और दिग्गज वकीलों में शुमार राम जेठमलानी का निधन हो गया. वह 95 साल के थे. लंबे समय से बीमार राम जेठमलानी ने आज सुबह दुनिया छोड़ दी. अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में वह केंद्रीय कानून मंत्री रहे थे. फिलहाल आरजेडी से राज्यसभा सांसद थे. उनके बेटे महेश जेठमलानी ने बताया कि कुछ दिन बाद 14 सितंबर को राम जेठमलानी का 96वां जन्मदिन आने वाला था. महेश जेठमलानी ने बताया कि उनके पिता का अंतिम सरकार यहां लोधी रोड स्थित शवदाहगृह में शाम को किया जाएगा.

14 सितंबर, 1923 को जन्मे राम जेठमलानी भारतीय जनता पार्टी में रहते हुए दो बार सांसद भी चुने गए थे. वह बार कॉउंसिल ऑफ़ इंडिया के चेयरमैन भी रहे. शिकारपुर (अब पाकिस्तान तक सिंध प्रांत) में जन्मे राम जेठमलानी ने ऐसे कई केस लड़े जो बेहद हाई प्रोफाइल थे.

राम जेठमलानी पिछले दो हफ्ते से बीमार थे. गृहमंत्री अमित शाह ने राम जेठमलानी के निधन पर शोक जताया है.  गृह मंत्री ने कहा कि जेठमलानी एक अच्छे इंसान थी थे. उनका निधन बड़ी क्षति है. केंद्रीय कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने भी दुःख जाहिर किया है.