नई दिल्ली: राष्ट्रपति पद के लिए बीजेपी के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ने संसद सदस्य के रूप में कई मुद्दे उठाए थे, जिनमें टेलीविजन पर वयस्क सामग्री पर रोक से लेकर एक हजार रुपए के नोट पर बी आर अंबेडकर की तस्वीर प्रकाशित करने की मांग शामिल है.
कोविंद 1994 से लेकर 2006 के बीच दो बार राज्यसभा के सदस्य रहे. इस दौरान उन्होंने कई बार अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षण के अलावा पिछड़े समुदायों के उत्पीड़न के बारे में सवाल किया था.
एक बार उन्होंने सवाल किया था कि आकाशवाणी और दूरदर्शन के कुछ उद्घोषकों ने कब से श्रोताओं का स्वागत राम राम से करना शुरू किया और क्या इसे बंद कर दिया गया है. अगर हां तो क्यों, उन्होंने सवाल किया है. उल्लेखनीय है कि उत्तर भारत में कई स्थानों पर लोग एक दूसरे का अभिवादन राम राम बोलकर करते हैं.
कोविंद ने 1962 के भारत-चीन युद्ध पर जनरल हैंडरसन ब्रुक्स रिपोर्ट को सार्वजनिक किए जाने की मांग की थी.  राज्यसभा के अभिलेखाकार के अनुसार जुलाई 1996 में उन्होंने वयस्क फिल्मों तथा बिना सेंसर वाले कार्यक्रमों के प्रसारण पर रोक लगाने की मांग की थी. उन्होंने हिंदी फिल्मों के गीतों पर आधारित कार्यक्रम चित्रहार के प्रारूप में बदलाव को लेकर भी सवाल किया था.
Also Read - राष्ट्रपति कोविंद ने जस्टिस NV Ramana को नियुक्त किया देश का अगला प्रधान न्यायाधीश, CJI एसए बोबडे इसी माह हो रहे रिटायर Also Read - राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की एम्स में हुई बाईपास सर्जरी, कुछ दिन पहले हुआ था सीने में दर्द Also Read - Holi 2021: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम मोदी ने दी होली की शुभकामनाएं, बोले- एकता की दिशा में करें काम