नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री और लोक जनशक्ति पार्टी प्रमुख रामविलास पासवान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सबसे बड़ा अम्बेडकरवादी बताते हुए रविवार को कहा कि उन्होंने एससी—एसटी अधिनियम के कड़े प्रावधानों को बहाल रखकर खुद को डॉ बी आर अम्बेडकर के सबसे बड़े अनुयायी के रूप में साबित कर दिया है. लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) और दलित सेना द्वारा आयोजित दलित, आदिवासी, पिछडा, अतिपिछडा सम्मेलन को संबोधित करते हुए पासवान ने यह बात कही.

उन्होंने कांग्रेस पर पिछडा वर्ग विरोधी पार्टी होने का आरोप लगाते हुए अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों से कहा कि राजग सरकार ने उनके खिलाफ कोई गलत काम नहीं किया है और न ही भविष्य में करेगी. बिहार में पदोन्नति में आरक्षण के लागू किए जाने के बारे में पासवान ने कहा कि यह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की प्राथमिकताओं में शामिल है.

मुजफ्फरपुर में बालिका गृह में 34 लड़कियों के साथ यौन शोषण मामले को लेकर विपक्ष पर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए पासवान ने कहा कि इस मामले में विपक्ष की सभी मांगे पूरी किए जाने के बावजूद उनके द्वारा इस मामले को लेकर दिल्ली में धरना दिया गया.

सम्मेलन को पार्टी सांसद चिराग पासवान, राम चंद्र पासवान एवं वीणा देवी सहित बिहार लोजपा प्रमुख और राज्य के पशु संसाधन मंत्री पशुपति कुमार पारस ने भी संबोधित किया.

(इनपुट: एजेंसी)