नई दिल्ली: बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर बढ़ती राजनीतिक सरगर्मियों के बीच लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने रविवार को अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं को एक भावुक पत्र लिखा. पत्र में उन्होंने अपने लोजपा संस्थापक और केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान के आईसीयू में भर्ती होने की जानकारी दी है. पत्र में चिराग पासवान ने पिता के प्रति अपने कर्तव्य का जिक्र करते हुए भावुक होकर कहा, “आज जब मैं यह पत्र लिख रहा हूं तो पापा को रोज बीमारी से लड़ते देख रहा हूं. एक बेटे के तौर पर पापा को अस्पताल में देखकर बेहद विचलित हो जाता हूं.” Also Read - पिता को याद कर भावुक हुए चिराग पासवान ने कहा- मरते दम तक रहूंगा नरेंद्र मोदी के साथ

बिहार विधानसभा चुनाव करीब होने के बावजूद पटना जाने में असमर्थता जाहिर करते हुए लोजपा अध्यक्ष ने लिखा, “पापा ने कई बार मुझे पटना जाने का सुझाव दिया लेकिन बेटा होने के नाते पापा को आईसीयू में छोड़कर कहीं भी जाना मेरे लिए संभव नहीं है. आज जब उन्हें मेरी जरूरत है तो मुझे उनके साथ रहना चाहिए. नहीं तो आप सबका राष्ट्रीय अध्यक्ष अपने आपको कभी माफ नहीं कर पाएगा.” Also Read - चिराग पासवान ने साधा नीतीश कुमार पर निशाना, बोले- कहीं लालू की शरण में न चले जाएं

चिराग ने पत्र में आगे कहा, “पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष होने के नाते उन साथियों की भी चिंता है जिन्होंने अपने जीवन को ‘फस्र्ट बिहार फस्र्ट बिहारी’ के लिए समर्पित कर दिया है.” लोजपा अध्यक्ष ने पार्टी के नेताओं व कार्यकर्ताओं को बिहार विधाानसभा चुनाव को लेकर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में सीटों के बटवारे पर अब तक कोई चर्चा नहीं होने की भी जानकारी दी है. Also Read - वादा तेरा वादा.....बिहार चुनाव में लगी वादों की झड़ी, किस पार्टी ने जनता से क्या की है प्रॉमिस, जानिए

चिराग ने पत्र में लिखा है, “कोरोना काल में लोगों को राशन मिलने में दिक्कत न हो इसलिए पापा (राम विलास पासवान) अपने रूटीन हेल्थ चेकअप को टालते रहे, जिसके चलते वह थोड़ा अस्वस्थ हो गए. पिछले तीन सप्ताह से उनका इलाज चल रहा है और उम्मीद करता हूं कि वह जल्द ही स्वस्थ होकर हमलोगों के बीच लौटेंगे.”