rampal-with-police Also Read - School Reopening Latest Update: इस राज्य में जल्द शुरू होंगे रेगुलर क्लासेज, शिक्षा मंत्री ने दिए ये संकेत

विवादित संत रामपाल को आखिरकार गुरुवार को अदालत के समक्ष पेश किया गया, जहां से उन्हें 28 नवंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। इस बीच जांच के लिए पुलिस उन्हें हिसार ले गई है। उनपर तथा उनके करीबी सहयोगियों पर हत्या का आरोप भी लगाया गया है। बरवाला के नजदीक रामपाल के सतलोक आश्रम में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ के दौरान छह लोगों की हुई मौत के मामले में रामपाल और उनके सहयोगियों पर हत्या के दो मामले दर्ज कराए गए हैं। Also Read - School Reopening Latest News: इस राज्य में 15 अक्टूबर के बाद फिर से खुलेंगे स्कूल, शिक्षा मंत्री ने बताई पूरी प्लानिंग

इस बीच सुरक्षा बलों ने आश्रम में तलाशी अभियान शुरू कर दिया है, ताकि उन हथियारों तथा अन्य चीजों को बरामद किया जा सके, जिसका इस्तेमाल उनके समर्थकों ने मंगलवार को संत को गिरफ्तार करने गई पुलिस का विरोध करने के लिए किया था। Also Read - हरियाणा के दो स्कूलों में ट्रायल बेसिस पर शुरू होंगी 10वीं और 12वीं की कक्षाएं, जानिए क्या है प्लान

इसबीच आश्रम की तलाशी के दौरान यह साफ़ होगया है की रामपाल का आश्रम किसी पांच सितारा होटल से काम नही हैं। रामपाल का आश्रम १२ एकड़ में फैला हुआ हैं, और खबरों के अनुसार इसमें 854 बाथरूम और 1252 शौचालय है। इसके अलावा आश्रम में एक सतसंग हाल भी था जिसमे एक वक्त में ५०००० लोगो के बैठने की क्षमता हैं।

रामपाल हाइड्रोलिक कुर्सी पर बैठ कर प्रवचन देटा था और उनका प्रवचन या कहे सत्संग दिखाने के लिए आश्रम में जगह जगह एलसीडी लगाये गए है।

रामपाल की निजी हवेली भी किसी महल से काम नही थी। उनकी यह चार मंज़िला हवेली, आश्रम के बाए और थी। इस हवेली में २४ ऐसी, आलीशान बाथरूम और निजी स्विमिंग पूल भी है। आश्रम के इर्दगिर्द २५ फिट ऊँची दीवारे बनायी गयी है।

इन सभी चीज़ो से एक बात साफ़ होजाती है की गरीब जनता का हिमायती यह संत खुद अपव्ययी जीवन बिता रहा था।